मध्य प्रदेश में जल्द सस्ता हो सकता है पेट्रोल-डीजल, वाणिज्य कर मंत्री ने मांगी रिपोर्ट

Whatsapp

भोपाल: मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमतों में गिरावट आ सकती है। इस संबंध में वाणिज्यिक कर मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर ने पेट्रोल और डीजल पर 5 फीसदी वैट लगाने का असर जानने के लिए विभाग से रिपोर्ट मांगी है। बता दें कि मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें देश भर में सबसे ज्यादा है।

5 दिन में मांगी रिपोर्ट
मंत्री ब्रजेंद्र सिंह राठौर ने प्रदेश में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने के बाद सरकार को हुई आमदनी और उसकी कुल खपत पर अफसरों से रिपोर्ट मांगी है। मंत्री ने 6 अक्टूबर तक रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है। उस रिपोर्ट के आधार पर ही सरकार अगला फैसला लेगी। सरकार इस पर भी फीडबैक ले रही है कि पेट्रोलियम कंपनियों की ओर से बढ़ाए जा रहे दाम का क्या असर हो रहा है।

मंत्री ने केंद्र पर लगाए आरोप
प्रदेश में पेट्रोल डीजल की कीमतों में वृद्धि के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि केंद्र ने राज्य की हिस्सेदारी में कटौती कर दी है। वहीं प्रदेश बाढ़ से जूझ रहा है ऐसे में सरकार को ज़रूरी राशि के लिए वैट बढ़ाना पड़ा है। लेकिन पेट्रोल-डीजल पर लगाया वैट अस्थायी है। सरकार इसे जल्द वापिस ले लेगी।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि का है बड़ा कारण
बताया जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल के दाम बढ़ने के कारण पेट्रोलियम कंपनियां पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा रही हैं। जब राज्य सरकार ने 5 फीसदी वैट बढ़ाया तो मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल देश-भर से सबसे महंगा हो गया। लेकिन लगातार मिल रही शिकायतों के कारण राज्य सरकार इसमें कटौती कर सकता है।

प्रदेश वासी सीमावर्ती राज्यों से खरीद रहे पेट्रोल-डीजल
पड़ोसी राज्यों में पेट्रोल-डीजलों की कीमत कम होने के कारण सीमावर्ती इलाकों के लोग अधिकतर पेट्रोल  डीजल पड़ोस से ही खरीद रहे हैं। इसलिए प्रदेश में पेट्रोल-डीजल कम बिक्री कम हो रही है। इस तरह की शिकायत मिलने के बाद सरकार ने इसे गंभीरता से लिया और पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने पर विचार शुरू किया।