Udaipur Murder Case: उदयपुर हत्याकांड में बड़ा खुलासा-PAK हैंडलर ने कहा था, ‘ऐसा धमाका करो कि देश हिल जाए’

Whatsapp

राजस्थान सरकार ने बृहस्पतिवार देर रात उदयपुर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) और पुलिस अधीक्षक सहित भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 32 अधिकारियों के तबादले के आदेश जारी किये। कार्मिक विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार, उदयपुर सहित 10 जिलों के पुलिस अधीक्षकों के तबादले किये गये हैं। उदयपुर में मंगलवार को दर्जी कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी। उदयपुर के पुलिस महानिरीक्षक हिंगलाज दान को पद से हटाकर मानवाधिकार का जिम्मा दिया गया है। वहीं अब कन्हैया लाल हत्याकांड में चौंकाने वाले खुलासा हुआ है।

ऐसा धमाका करो कि पूरा देश हिल जाए
बताया जा रहा है कि नूपुर शर्मा के बयान के बाद पाकिस्तानी हैंडलरों ने रियाज और गौस से कहा था कि भारत में ऐसा धमाका करो कि पूरा देश हिल जाए।  हत्या आरोपी रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद को पाकिस्तान हैंडलर ब्रेन वॉश कर रहे थे। वे भारत में लगातार बड़ी घटना के लिए उकसा रहे थे। उदयपुर के नृशंस हत्याकांड के मामले में बृहस्पतिवार देर रात दो बजे दो व्यक्ति और गिरफ्तार किये गए हैं। इससे पूर्व दो आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्हें स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां अदालत ने दोनों आरोपियों को एक दिन की ट्रांजिट रिमांड पर दिया है। मामले में पेश होने वाले एक वकील ने कहा कि अब उन्हें एसटीएस द्वारा शनिवार को जयपुर में नामित राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) अदालत में पेश किया जायेगा।

क्या है मामला
उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की मंगलवार दोपहर को दो मुस्लिम लोगों रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद ने चाकू से हमला कर हत्या कर दी। आरोपियों ने अपराध का ऑनलाइन वीडियो पोस्ट कर ‘दर्जी कन्हैयालाल का सिर काटकर हत्या करने का दावा किया। दोनों आरोपियों को घटना के कुछ घंटों बाद राजसमंद के भीम क्षेत्र से पकड़ लिया गया।

एक अन्य अधिकारी ने शुक्रवार सुबह कहा कि ‘‘ बृहस्पतिवार रात को गिरफ्तार किए गए दो व्यक्ति दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के सह-साजिशकर्ता थे और उनसे पूछताछ की जा रही है।” दोनों की पहचान मोहसिन और आसिफ के रूप में की गई है। अतिरिक्त महानिदेशक एटीएस और एसओजी अशोक राठौर ने बताया कि मुख्य आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को उदयपुर की एक अदालत द्वारा शिनाख्त परेड के लिये न्यायिक हिरासत में भेजने के बाद अजमेर की उच्च सुरक्षा अदालत में स्थानांतरित कर दिया गया है। इस मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) और राजस्थान पुलिस के विशेष शाखा (एसओजी) के सहयोग से की जा रही है।

न्यायालय ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी को लेकर नुपुर शर्मा को फटकार लगाई
उच्चतम न्यायालय ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निलंबित नेता नुपुर शर्मा की पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ ‘‘व्यथित करने वाली” टिप्पणी को लेकर उन्हें शुक्रवार को फटकार लगाते हुए कहा कि इस बयान के कारण देश भर में दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुईं और इसने लोगों की भावनाओं को भड़काया। न्यायालय ने कहा कि शर्मा ने पैगंबर के खिलाफ टिप्पणी या तो सस्ता प्रचार पाने के लिए या किसी राजनीतिक एजेंडे के तहत या किसी घृणित गतिविधि के तहत की। उसने कहा कि उन्हें पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। टेलीविजन पर प्रसारित एक बहस के दौरान पैगंबर के खिलाफ की गई शर्मा की टिप्पणी के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हुए थे और कई खाड़ी देशों ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दी थी।