आखिरकार विराट कोहली ने इंग्लैंड में जीता टास, जो रूट ने बुरी तरह उछाला था सिक्का

Whatsapp

नई दिल्ली। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने आखिरकार इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट क्रिकेट में टास जीत लिया है। हालांकि, इसके लिए उनको काफी लंबा समय तय करना पड़ा है, क्योंकि 2018 में बतौर कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड में टेस्ट मैच खेलने उतरे थे। 1 अगस्त 2018 के बाद से 25 अगस्त 2021 से पहले तक उन्होंने एक भी टास नहीं जीता, लेकिन अब लीड्स के हेडिंग्ल में उन्होंने इस सिलसिले को तोड़ दिया है।

इंग्लैंड की सरजमीं पर विराट कोहली कप्तान के तौर पर लीड्स टेस्ट मैच से पहले 8 मैच खेल चुके हैं, जिसमें एक मैच वे न्यूजीलैंड के खिलाफ आइसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेल चुके हैं, लेकिन एक भी बार वे टास नहीं जीत पाए। हालांकि, अब लीड्स के हेडिंग्ले में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने टास जीता, जो कि इंग्लैंड की सरजमीं पर 9 टेस्ट मैचों में टास के लिहाज से पहली जीत रही। ऐसा ही कुछ महान बल्लेबाज सर डान ब्रैडमैन के साथ हुआ था।

दरअसल, आस्ट्रेलियाई दिग्गज डान ब्रैडमैन भी कप्तान के तौर पर इंग्लैंड की सरजमीं पर पहले 9 टेस्ट मैचों में सिर्फ एक मैच में टास जीत पाए थे। वहीं, अगर इस पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के तीसरे मुकाबले की करें तो इसमें मेजबान टीम के कप्तान जो रूट ने जितनी बुरी तरह से हवा में सिक्का उछाला था, वो हैरान करने वाला था। आमतौर पर सिक्के को स्पिन किया जाता है, लेकिन रूट ने इस अंदाज में फेंका, जैसे वे हवा में काफी दूर सिक्का फेंकना चाह रहे थे।

इस मैच में विराट कोहली ने टास जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया। विराट कोहली ने टीम में कोई बदलाव नहीं किया। विराट कोहली की कप्तानी में ऐसा चौथी बार है, जब वे लगातार दो मैचों में बिना किसी बदलाव के उतरे हैं। हर कोई चाह रहा था कि विराट कोहली अश्विन को मौका देंगे, लेकिन ऐसा देखने को नहीं मिला।