ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम शिवराज आज खरगोन में, बाजीराव पेशवा को देंगे श्रद्धांजलि

Whatsapp

खरगोन। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की जन आशीर्वाद यात्रा खरगोन जिले में पहुंचेगी, यहां सीएम शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हो सकते हैं। 19 अगस्त को यात्रा इदौर पहुंचेगी। ज्योतिरादित्य सिंधिया के निर्धारित कार्यक्रम अनुसार दोपहर 1 बजकर 15 मिनट पर हेलीकाप्टर से रावेरखेड़ी पहुंचेगें। यहां वे श्रीमंत बाजीराव पेशवा के जन्म जयंती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके पश्चात सिंधिया दोपहर 4 बजे रावेरखड़ी से निकलने वाली जन आशीर्वाद यात्रा में शामिल होकर रात 10 बजे इंदौर के लिए रवाना होंगे।

बाजीराव पेशवा को पहली बार श्रद्धांजलि देंगे

ग्राम रावेरखेड़ी स्थित बाजीराव पेशवा समाधि स्थल पर बुधवार को 321वें जयंती महोत्सव पर मप्र पर्यटन विभाग व सांस्कृतिक विभाग समाधि स्थल पर पहली बार बड़े स्तर पर कार्यक्रम कर रहा है। सिंधिया भी पहली बार यहां पहुंच रहे हैं। इससे पहले पेशवा की जन्म जयंती पर राज्य व केंद्रीय मंत्री स्तर के जनप्रतिनिधि शामिल हुए हैं, लेकिन यह पहला अवसर होगा, जब पेशवा को श्रद्धांजलि देने स्वयं प्रदेश के मुखिया आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री व सिंधिया निर्धारित समय दोपहर 1.40 बजे हेलीकाप्टर से ग्राम रावेरखेड़ी पहुचेंगे। वे नर्मदा तट स्थित बाजीराव पेशवा की समाधि स्थल पर करीब 10 मिनट तक पूजन कर श्रद्धांजलि देंगे। समाधि स्थल पर चुनिंदा लोगों का ही कार्यक्रम होगा। इसके बाद व्याख्यानमाला में शामिल होंगे। उसके बाद सिंधिया की जन आशीर्वाद यात्रा निकलेगी।

अजेय योद्धा थे बाजीराव पेशवा

20 साल की उम्र में पेशवा बनकर मराठा सत्ता की पताका को भारत में फहराने वाले महान योद्धा बाजीराव ने अपनी बाजीराव ने करीब 40 युद्ध में विजय हासिल की। इस कारण उन्हें दुनिया के महान योद्धाओं और विजेताओं की श्रेणी में रखा जाता है। बाजीराव ने जिस स्थान पर अंतिम सांस ली, वहीं उनका समाधि स्थल है और कुछ दूर नदी तट पर जहां उनका दाह संस्कार हुआ था। वहीं वेदिका बनी हुई है।

बारिश व कोविड को लेकर किए इंतजाम

कोरोना गाइडलाइन के मद्देनजर कार्यक्रम स्थल पर सैनिटाइजर और मास्क उपलब्ध रहेंगे। एम्बुलेंस और फायर फाइटर की व्यवस्था हेलीपैड और कार्यक्रम स्थल पर रहेगी। कार्यक्रम में किसी प्रकार के लोकार्पण और शिलान्यास नहीं होंगे। कलेक्टर अनुग्रहा पी. ने सोमवार को समाधि स्थल का निरीक्षण किया था। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बारिश का मौसम है। ऐसी स्थिति में समाधि स्थल और हेलीपैड पर बारिश से बचाव के लिए पूरे इंतजाम किए जाएं। मुख्यमंत्री समाधि स्थल पर पौधारोपण भी करेंगे।