पुलिस कस्टडी में युवक की मौत ! 3 आरक्षक सस्पेंड, सट्टे के आरोप में पकड़ा था मृतक

Whatsapp

ग्वालियर: ग्वालियर में पुलिस ने सट्टे संचालित करने के आरोप में दो युवकों को पकड़ा था। उनमें से एक आरोपी की संदिग्ध परिस्थितियों में पुलिस कस्टडी में मौत हो गई। थाने में आरोपी की मौत के बाद पुलिस कर्मियों के हाथ-पैर फूल गए। वरिष्ठ अधिकारियों के थाने पहुचने के बाद ही देर रात परिजन को खबर की गई। वहीं आरोपी की मौत के बाद परिजन डरे-सहमे हैं कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। इधर पुलिस कस्टडी में आरोपी की मौत के मामले में एसपी ने तत्काल जिला एवं सत्र न्यायाधीश को पत्र लिखकर न्यायायिक जांच कराने का आग्रह किया है।

इंदरगंज थाना अंतर्गत पुलिस ने फालका बाज़ार इलाके से सट्टा संचालित करने के आरोप में दो युवकों को सोमवार शाम पकड़ा था। पकड़े गए आरोपियों के नाम सोनू बंसल और शंकर लाल बताये जा रहे हैं। पूछताछ के दौरान रात करीबन साढ़े नौ बजे सोनू को उल्टी हुई। आनन फानन में पुलिस सोनू को लेकर जयारोग्य चिकित्सालय के ट्रोमा सेंटर पहुची जहां नब्ज टटोलते ही डॉक्टर्स ने सोनू को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस कस्टडी में हुई आरोपी की मौत से पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। संदेह है कि सोनू कि मौत पुलिस की पिटाई से हुई है। पुलिस कस्टडी में आरोपी की मौत की सूचना मिलते ही एसपी अमित सांघी सहित अधीनस्थ पुलिस अधिकारी इंदरगंज थाने पहुच गए। एसपी में इंदरगंज थाने में लगे सीसीटीव्ही फुटेज चेक किये। इसके बाद मृतक आरोपी सोनू के परिजन को रात करीबन 12 बजे सूचना दी गई। आरोपी सोनू गैंडे वाली सड़क पर किराए का कमरा लेकर रहता है। समीप ही सोनू की ससुराल है। मृतक के एक बेटा और एक बेटी है। मृतक सोनू के पिता गोपाल दास कैलाश टॉकीज के पास अपने छोटे बेटे मोनू के साथ रहते हैं। सोनू की पुलिस कस्टडी में हुई मौत की खबर सुनकर पूरा परिवार डरा-सहमा है। मृतक सोनू का छोटा भाई मोनू कुछ भी बोलने से बच रहा है। सट्टे के आरोपी की पुलिस कस्टडी में हुई मौत को पुलिस अधिकारी भी संदिग्ध मान रहे हैं। इसी के चलते एसपी अमित सांघी ने घटना की सूचना मिलते ही जिला एवं सत्र न्यायाधीश को पत्र लिखकर न्यायायिक जांच कराने का आग्रह किया है।