MADHYA PRADESH NEWS HINDI(मध्य प्रदेश) हाईकोर्ट के आदेश के बाद जागा जिला प्रशासन, सड़कों से आवारा मवेशियों से मिलेगी निजात

Whatsapp

होशंगाबाद: शहर की मुख्य सड़कों पर आवारा मवेशियों का जमावड़ा लगा रहता है। जिससे आये दिन एक्सीडेंट की घटनाएं होती रहती हैं। जिसको लेकर जिला अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी ने SDM आदित्य रिछारिया, SDOP मोहन सारवान, नगर पालिका CMO तहसीलदार शैलेन्द्र बड़ोनिया व राजस्व अधिकारियों को साथ लेकर होशंगाबाद शहर की करीब पांच गौशालाओं BTI, रसूलिया, जिमराती, कोठी बाजार, बांद्राभान का निरीक्षण किया।

बीटीआई के गुरुकुल से लगी गौशाला में 2 एकड़ जमीन है जिसमे में अभी बीस गाय हैं। इस गौशाला में दो सौ गायों को रखा जा सकता है। वहीं गुरुकुल की में भी 30 से 35 गायों को रखा जा सकता है। जिमराती में कांजी हाउस, बांद्राभान सहित गौशालाओं में आवारा गौवंशो को रखने की  वैकल्पिक व्यवस्था की जा सकती है, जिससे शहर के वाहन चालकों को आवारा मवेशियों से निजात मिल सकेगी, वहीं आवारा मवेशियों से एक्सीडेंट की दुर्घटना भी कम होंगी।

एडीएम केडी त्रिपाठी ने बताया कि ‘शहर के मुख्य मार्गों पर आवारा पशुओं का जमावड़ा लगा रहता है, जिससे आए दिन एक्सीडेंट की घटनाएं होती हैं, दुर्घटनाएं होती रहती हैं, जिसकी वैकल्पिक व्यवस्था को लेकर गौशालाओं का निरीक्षण किया गया है। जिससे आने जाने वाले वाहन चालकों को निजात मिलेगी और इस तरह की गौशालाओं में मवेशियों के भरण पोषण की व्यवस्था व टीन शेड नगर पालिका तैयार करेगी। वहीं निरीक्षण के दौरान एडीएम ने नगर पालिका सीएमओ को निर्देश दिए हैं, कि शहर की आवारा मवेशियों को इन गौशालाओं में छोड़ दिया जाए।