दिग्विजय के विवादित बोल, कहा- गोडसे को गांधी का हत्यारा मानते हैं तो BJP की पदयात्रा का करें विरोध

Whatsapp

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह एक बार फिर अपने विवादित बोल के चलते चर्चा में हैं। उन्होंने एक बार फिर नाथूराम गोडसे और महात्मा गांधी के बहाने भाजपा पर हमला बोला है। गौरतलब है कि भाजपा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती पर गांधी संकल्प यात्रा निकाली है। इस पदयात्रा को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि यदि वे गोडसे को देशभक्त मानते हैं, तो जो लोग गोडसे को महात्मा गांधी का हत्यारा मानते हैं, उन्हें इस पद यात्रा का विरोध करना चाहिए। उन्होंने ये बात ट्वीट करके कही।

दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कई अन्य ट्वीट किए। उन्होंने इस दौरान एक ट्वीट में कहा, ‘ भाजपा ने तय किया है कि उसके नेता 2 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक पंचायतों में 150 किलोमीटर पैदल यात्रा करेंगे। मैं इस बात से काफी प्रसन्न हूं की भाजपा को महात्मा गांधी की याद तो आई। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, मेरा उन्हें सुझाव है कि वे गांधी जी के प्रमुख समाजिक परिवर्तन पर के विषय पर जनता से जरूर चर्चा करें।

जानें ऐतिहासिक महाबलीपुरम के बारे में, जहां होगी दो बाहुबलियों की मुलाकात; चीन से है खास नाता

भाजपा स्पष्ट करे गोडसे देश भक्त हैं या नहीं

दिग्विजय ने अपने अगले ट्वीट में, इन मुद्दों का जिक्र किया, ‘छुआ छूत के खिलाफ और दलितों को मंदिरों में प्रवेश, ग्राम स्वराज, हिन्दू-मुस्लिम एकता व संप्रदायिक सद्भाव, नशा बंदी और उन्होंने ये भी कहा कि भाजपाई को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वे नाथूराम गोडसे को देश भक्त मानते हैं या नहीं?’

इस्लाम की तरह हिंदू कट्टरता भी खतरनाक

बकौल दिग्विजय यह पहला ऐसा अवसर नहीं है जब उन्होंने ऐसा विवादित बयान दिया हो। इससे पहले उन्होंने बुधवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को जी करके संबोधित किया था। वे यहीं नहीं रुके और उन्होंने इस दौरान कहा कि इस्लाम की तरह हिंदू कट्टरता भी खतरनाक है। वह इस दौरान महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर लोगों को संबोधित कर रहे थे।

सितंबर में भाजपा और बजरंग दल को लेकर विवादित बयान दिया

इससे पहले वो पिछले महीने सितंबर में भाजपा और बजरंग दल को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा और बजरंग दल पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से पैसे लेकर उनके लिए जासूसी करते हैं। इस बाद जब उनकी चौतरफा आलोचना हुई तो उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है।