कश्मीर से जुड़े मामलों की सुनवाई अब कल, CJI बोले- अभी हमारे पास वक्त नहीं

Whatsapp

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाने के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं को सोमवार को अपनी संविधान पीठ को भेज दिया और यह पीठ मंगलवार से मामले की सुनवाई करेगी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ ने याचिकाओं को पांच न्यायाधीशों की पीठ के पास भेज दिया। संविधान पीठ को कश्मीर से जुड़े मामले भेजने के मामले में चीफ जस्टिस ने कहा कि अभी हमारे पास काफी मामले सुनने का समय नहीं क्योंकि फिलहाल अयोध्या मामले पर सुनवाई चल रही जो अंतिम चरण पर है।

इन याचिका में कश्मीर में पत्रकारों के आवागमन पर लगाए गए कथित प्रतिबंधों का मामला उठाने वाली याचिकाएं और घाटी में नाबालिगों की कथित अवैध हिरासत का दावा करने वाली याचिकाएं भी शामिल हैं। न्यायमूर्ति एन वी रमण की अगुवाई वाली संविधान पीठ कश्मीर मामले से जुड़े मामलों की सुनवाई मंगलवार से करेगी। MDMK नेता वाइको की ओर से फारूक अब्दुल्ला की हिरासत पर दायर याचिका पर चीफ जस्टिस ने कहा कि PSA एक्ट को चैलेंज किया जा सकता है, ऐसे में याचिका को रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा अन्य याचिकाओं पर मंगलवार को सुनवाई होगी।