मंदसौर में एक बार फिर आफत की बारिश, गांधी सागर डैम के 8 गेट खोले गए

Whatsapp

मंदसौर: मध्यप्रदेश में भारी बारिश का कहर एक बार फिर लौट आया है। मंदसौर में शनिवार को एक बार फिर से जोरदार बारिश हुई। जिसके चलते प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर बारिश में डूब गया। रात करीब 2.30 बजे के करीब एक बार फिर से पानी गर्भ गृह में पहुंच गया। इस सीजन में 7वीं बार ऐसा हुआ है कि शिवना नदी का पानी पशुपतिनाथ के गर्भगृह में पहुंचा हो। यही नहीं भारी बारिश के कारण गांधी सागर डैम के गेट भी खेल दिए गए हैं। जिसके चलते निचले इलाकों में पानी भर गया है।

अचानक शुरू हुई बारिश के कारण मंदसौर ही नहीं बल्कि नीमच रतलाम में भी इसका कहर देखा गया। कलेक्टर मनोज पुष्प का कहना है कि गांधी सागर डैम का वर्तमान में जल स्तर 1309.92 फीट है। गांधी सागर बांध में इस समय पानी की आवक 96 हजार 604 क्यूसेक पानी की है। वहीं, गांधी सागर बांध से पानी छोड़ने के लिए 8 गेट खोले गए हैं। जिनसे 1 लाख 13 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। जिस कारण शिवना नदी उफान पर आ गई हैं और लगातार नदी का जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है

शनिवार रात हुई अचानक बारिश
शनिवार में दिन के समय मौसम एक दम साफ था लेकिन रात में आफत की बारिश अचानक ही शुरू हो गई। रात भर तेज बारिश के बाद आसपास के जलस्रोतों में पानी का स्तर बढ़ता रहा। जिले में सबसे अधिक बारिश गरोठ तहसील में हुई है।

14 जिलों में यलो अलर्ट
अचानक हुई भारी बारिश के बाद मौसम विभाग ने 14 जिलों में यलो अलर्ट घोषित कर दिया है। जिसके चलते बैतूल, अनूपपुर, सतना, छतरपुर, पन्ना, सीधी, सिंगरौली, रायसेन, सीहोर अशोकनगर, गुना, डिंडोरी, छिंदवाड़ा और रीवा में भारी बारिश की संभावना बनी हुई है।