कश्मीर पर पाकिस्तान ने फिर खाई मुंह की, भारतीय सांसदों ने जमकर लगाई क्लास

Whatsapp

कम्पालाः कश्मीर पर पाकिस्तान द्वारा फैलाए जा रहे झूठ को जहां वैश्विक समुदाय में कोई भी सुनने को तैयार नहीं हुआ वहीं भारत ने युगांडा की राजधानी कम्पाला में भी पड़ोसी मुल्क को खूब खरी-खरी सुनाई। कम्पाला में आयोजित 64वें राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन की आम सभा के दौरान पाकिस्तानी संसदीय प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर का मुद्दा उठाया। पाकिस्तान ने झूठा आरोप लगाते हुए कहा कि भारतीय सैन्य बलों ने कश्मीर को बंधक बनाया हुआ है। पाकिस्तान के इस झूठ का करारा जवाब देते हुए भारतीय संसदीय प्रतिनिधिमंडल की सदस्य रूपा गांगुली और अन्य सदस्यों ने पाकिस्तानी दुष्प्रचार की पोल खोली।

रूपा गांगुली ने कहा कि सैनिक शासन की परंपरा पाकिस्तान में व्याप्त है और वह 33 साल सेना के शासन में रहा है। वहीं भारत में सैनिक शासन कभी भी और कहीं भी नहीं रहा है। भारतीय प्रतिनिधिनमंडल की अध्यक्षता लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला कर रहे थे। लोकसभा अध्यक्ष के नेतृत्व में भारतीय संसदीय प्रतिनिधिमंडल 22 से 29 सितंबर 2019 तक युगांडा में आयोजित 64वें राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन में भाग ले रहा है।

इस प्रतिनिधिमंडल में अधीर रंजन चौधरी, रूपा गांगुली, डॉ. एल हनुमंथैया, अपराजिता सारंगी और स्नेहलता श्रीवास्तव शामिल हैं। भारत की ओर से राज्य विधानमंडलों के पीठासीन अधिकारी और सचिव, जो राष्ट्रमंडल संसदीय संघ के सदस्य भी है, इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं। बता दें कि इससे पहले मालदीव की संसद में कश्मीर का मामला उठाने पर भारत ने पाकिस्तान की बोलती बंद कर दी थी।