जब SP का फर्जी IAS से हुआ आमना-सामना, एक सवाल से उठा झूठ से पर्दा

Whatsapp

जबलपुर: जबलपुर के दंबग एसपी अमित सिंह ने एक फर्जी आईएएस का भंडाफोड़ किया है। दरअसल स्टोरी एकदम फिल्मी है जबलपुर एसपी के पास ए कॉल आती है जिसमें सामने वाला कहता है ‘मैं राकेश कुमार शाह बोल रहा हूं हाल ही मैंने आईएएस की परीक्षा पास की है और बैतूल में पोस्टेड हूं क्या आप से मिल सकता हूं’। इस पर एसपी ने उन्हें अपने कार्यालय बुला लिया। खास बात यह रही कि आईएएस राकेश कुमार हाथ में मिठाई का डिब्बा लेकर पहुंच भी गए। फिर दोनों के बीच शुरू हुआ बातचीत का सिलसिला और आईएएस की पोल खुल गई।

दरअसल, अमित सिंह ने साधारण बातचीत करते करते उनसे यूपीएससी परीक्षा से संबंधित प्रश्न पूछ लिया। राकेश कुमार कुछ नहीं बता पाए तब एसपी को शक हुआ कि ये नकली कलेक्टर है और बातों ही बातों में जांच में ये खुलासा भी हो गया कि राकेश कुमार फर्जी आईएएस है। जांच में पुलिस को केबिनेट सेकेट्री ऑफ इंडिया का एक सर्टिफिकेट सहित कई और दस्तावेज मिले है जो कि साबित करते है कि इस व्यक्ति ने आईएएस के नाम पर कई लोगो को ठगा है।

जबलपुर एसपी अमित सिंह ने पूरे मामले के बारे में बताया कि आरोपी अपने परिचितों से आईएएस में चयनित होने की बात कर रहा था। युवक ने अपने पिता को भी चयन को लेकर जानकारी दी थी लेकिन जब भी प्रतियोगी परीक्षा में अभ्यर्थी का चयन होता है तो उसका वेरीफिकेशन किया जाता है लेकिन इस युवक ने जब फोन पर बताया तो उसी दौरान मैंने युवक को कार्यालय में आने के लिए कहा। जिसके बाद इसे लेकर जांच की गई। यह मामला पूरी तरह से 420 का है। बहरहाल आरोपी राकेश कुमार सिविल लाइन थाने पुलिस के हवाले कर दिया है। एसपी अमित सिंह ने आरोपी से संबंधित जांच एएसपी क्राइम शिवेश बघेल को सौपी है।