RSS के लोग शादी नहीं करते, इसलिए होते हैं हनी ट्रैप जैसे मामले- कांग्रेस नेता

Whatsapp

भोपाल: मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले को लेकर सियासत गरमाई हुई है। प्रदेश के दोनों बड़े राजनीतिक दल खुद को बचाने के लिए एक दूसरे का दामन दागदार करने में जुटे हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल ने शुक्रवार को इस मामले में बयान देकर नये विवाद को हवा दे दी है। उन्होंने ऐसे मामलों के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के अविवाहित कैडर को जिम्मेदार बताया।

प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल ने कहा ‘‘जब प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान थे तब हनी ट्रैप का मामला शुरु हुआ था। यह मामला प्रदेश के बाहर पांच-छह राज्यों में फैला था, जहां भाजपा का शासन था। हनी ट्रैप मामला होने का एक बड़ा कारण है कि आरएसएस के लोग शादी नहीं करते हैं।’’ इतना ही नहीं उन्होंने सलाह देते हुए आगे कहा, ‘‘आरएसएस के लोगों को विवाह कर लेना चाहिये ताकि इस तरह के मामले रुक सके। इसमें अन्य लोगों में अधिकारी, व्यापारी भी शामिल हैं लेकिन अधिकांश लोग भाजपा और आरएसएस से जुड़े हैं।’’

BJP ने किया पलटवार, बयान को बताया घटिया
कांग्रेस नेता के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि अग्रवाल का बयान उनकी अस्वस्थ मानसिकता जाहिर करता है। भार्गव ने कहा,‘‘कांग्रेस सहित सभी राजनीतिक दलों में कई अविवाहित लोग हैं। वह ऐसे सभी अविवाहित लोगों के चरित्र पर उंगली उठा रहे हैं। आरएसएस के नेता देशभक्त होते हैं और देश के लिये समर्पित होकर काम करते हैं।’’ भाजपा नेता ने कहा कि आरएसएस के सभी नेता अविवाहित भी नहीं होते हैं। केवल पूर्णकालिक आरएसएस कार्यकर्ता विवाह नहीं करते हैं क्योंकि वह देश के लिए अपना जीवन समर्पित करते हैं। उनके पास परिवार के लिए समय नहीं होता था इसलिए वह विवाह नहीं करते हैं। अग्रवाल का बेहद घटिया किस्म का है।