इंदौर चूड़ी बेचने वाले की पिटाई मामले में तालिबान कनेक्शन के संकेत- गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा

Whatsapp

भोपाल: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में चूड़ी बेचने वाले की पिटाई मामले में साजिश रचने वाले शख्स का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आने के बाद अब इसमें तालिबान कनेक्शन होने की आशंका जताई जा रही है। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दावा किया है कि उसके लिंक अब तालिबान से भी मिले हैं जिसकी जांच की जा रही है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि इंदौर में जिस अल्तमश को गिरफ्तार किया गया है, उसके पास से करीब 200 आपत्तिजनक सामग्री और दस्तावेज मिले है जिसमें व्हाट्सएप ग्रुप, सीडी, पेन ड्राइव भी शामिल है। अकेला यह नहीं है, उसका पाकिस्तान ही नहीं, एक जगह तो तालिबान से भी बातचीत के संकेत मिले हैं जिसकी जांच की जा रही है। मामला बहुत ही गंभीर लग रहा है। घटना वाले एरिया को अलर्ट किया हुआ है। फिलहाल मामले की जांच चल रही है। अब इस मामले में जैसे-जैसे प्रकरण सामने आएंगे पुलिस आगे की कार्रवाई करती जाएगी। वहीं उन्होंने कहा कि तालिबानी सोच मध्यप्रदेश में बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

दंगा भड़काने के मामले में खजराना पुलिस ने इरफान, अल्तमश, सैय्यद और जावेद को गिरफ्तार किया था। रविवार को चारों आरोपियो को कोर्ट में पेश किया गया था। इसमें से 1 आरोपी इरफान को जेल भेज दिया गया, बाकी तीन को 2 सितंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि सभी बाणगंगा में हुई चूड़ी वाले की पिटाई की घटना को लेकर नाराज थे और इसका बदला लेना चाहते थे। इसके लिए ही उन्होंने भड़काऊ मैसेज लोगों को भेजा था। जांच में इनके मोबाइल में पाकिस्तान के कुछ नंबर मिले है और कुछ संदिग्ध वॉट्सऐप ग्रुप भी मिले हैं।

ये है पूरा मामला
थाना बाणगंगा के गोविंद नगर इलाके में एक युवक के साथ गोविंद नगर में बेरहमी से मारपीट का वीडियो वायरल हुआ था। आरोप है युवक ने एक नाबालिग लड़की को चूड़ी बेचने के बहाने गलत तरीके से छुआ। आरोप यह भी है कि युवक अपना धर्म छिपा रहा है। लेकिन वायरल वीडियो के अनुसार, कुछ लोगों ने युवक की बेरहमी से पिटाई की और धमकी दी कि हिंदुओं के इलाके में दोबारा चूड़ी बेचते दिखे तो अच्छा नहीं होगा। मारपीट, जातिसूचक और अपशब्दों का वीडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो वर्ग विशेष का गुस्सा फूट पड़ा। न्याय के लिए धर्म विशेष के लोग थाने का घेराव करने पहुंचे थे। इसे लेकर राजनीति भी गरमाई आरोप प्रत्यारोप का दौर भी चला और एक तरफ युवक से मारपीट करने वाले तीन लोगों पर मामला दर्ज किया गया तो वहीं बताया गया कि युवक अपना धर्म छिपाकर चूड़ियां बेच रहा था और थाने का घेराव करने पहुंचे लोगों में भी पीएफआई के लोगों का हाथ होने की आशंका जताई गई। इसके बाद पीड़ित युवक पर 9 गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।