आदिवासी की पिटाई से मौत मामले में गर्माई सियासत तो हरकत में आया प्रशासन, आरोपियों के घर तोड़े

Whatsapp

नीमचमध्य प्रदेश के नीमच में आदिवासी युवक से बेरहमी से पिटाई और मौत के मामले में राजनीति गर्माई हुई है। एक तरफ बसपा सुप्रीमो मायावती ने घटना की निंदा की है तो वहीं पूर्व सीण कमलनाथ ने घटना की जांच के लिए विधायकों की टीम गठित की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस भी एक्शन मोड में आ गई और आरोपियों के घर को जमींदोज करना शुरू कर दिया है। विभत्स घटना में लिप्त महेंद्र गुर्जर के मकान को ध्वस्त किया गया है। इसके साथ आरोपी अमरचंद के मकान को भी तोड़ा गया है। इस कार्रवाई को लेकर कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट किया और कहा कि आशा है कि भविष्य में ऐसी घटना दोबारा दोहराई न जाए।

बता दें कि नीमच चोरी के शक में एक आदिवासी युवक की कुछ लोगों ने पहले बेरहमी से पिटाई की फिर पिकअप वाहन के पीछे रस्सी से बांधकर घसीटा। इसके बाद आरोपियों ने खुद ही डायल 100 को कॉल करके बताया कि उन्होंने चोरी के आरोपी को पकड़ा है। इसके बाद पुलिस ने घायल को अस्पताल में भर्ती कराया जहां पीड़ित ने दम तोड़ दिया।

इसके बाद पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर आठ आरोपियों को चिह्नित किया और गिरफ्तारी शुरु की। वही मामला गर्माया तो उनके रसूख को तोड़ा जा रहा है। प्रशासन ने सिंगोली के पास स्थित गांव में महेंद्र गुर्जर के घर को तोड़ दिया है। दूसरे आरोपियों के घर भी तोड़े जाएंगे।