मध्य प्रदेश के छतरपुर में दो मासूमों को कुएं में फेंककर मां ने लगाई फांसी

Whatsapp

छतरपुर। सटई थाना क्षेत्र के ग्राम पारवा में महिला ने दो मासूम बच्चियों को कुएं में फेंककर कुएं के अंदर ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। दस माह की मासूम की मौत हो गई जबकि एक अन्य बालिका को सकुशल बचा लिया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पारवा निवासी कन्हैया यादव पिछले पांच दिनों से गांव से दूर अपने पालतू पशुओं को चराने के लिए गया था। 25 वर्षीय पत्नि रानी यादव अपनी दो बेटियों और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ घर में थी। रविवार की दोपहर में महिला रानी यादव गांव से कुछ दूरी पर स्थित एक अहिरवार के खेत में अपनी 10 माह की बेटी द्रोपदी और चार वर्षीय सोना को लेकर पहुंची और दोनों मासूमों को कुएं में फेंककर कुएं की पाट से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

10 माह की मासूम द्रोपदी की पानी में डूबने और रानी यादव की फांसी लगाने से मौत हो गई। लोगों ने जब कुएं से आवाज सुनी तो मौके पर पहुंचकर चार वर्षीय सोना को सकुशल बचा लिया। बताया जाता है कि पति की गैरमौजूदगी में घर में सास और बहू के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ और रानी ने तैश में आकर यह आत्मघाती कदम उठाया है। पुलिस थाना सटई के प्रभारी प्रदीप सर्राफ का कहना है कि सटई थाना प्रभारी प्रदीप सर्राफ ने बताया कि आत्महत्या के कारणों की जांच कर रहे हैं।

कुएं की ईंट में फंसकर बच गई सोना की जान

चार वर्षीय बालिका सोना की जान कुएं की ईंट में फंसकर बच गई है। बताते हैं कि जब महिला ने अपनी दोनों मासूमों को कुएं के अंदर फेंका तो 10 माह की मासूम की तत्काल ही पानी में डूब जाने से मौत हो गई जबकि चार साल की सोना किसी ईंट में फंसकर लटक गई। जब ग्रामीणों ने उसकी आवाज सुनी तो दौडक़र उसको बचा लिया गया।