भारत बायोटेक के नए प्लांट से Covaxin की पहली कमर्शियल खेप रवाना, वैक्सीनेशन में आएगी तेजी

Whatsapp

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने गुजरात में भरूच जिले के अंकलेश्वर स्थित भारत बायोटेक के नए प्लांट से कोवैक्सीन (Covaxin) टीके की पहली खेप रवाना की। मांडविया ने इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम के बाद ट्वीट में लिखा, ‘देश को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मजबूत करने के लिए सबसे जरूरी है टीकाकरण। अंकलेश्वर स्थित बायोटेक के संयंत्र से कोवैक्सीन की पहली वाणिज्यिक खेप को रवाना किया।’

टीकों की आपूर्ति में होगी बढ़ोतरी
स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक इस खेप की रवानगी के साथ ही देश में टीकों की आपूर्ति में बढ़ोतरी होगी वहीं हर भारतीय तक टीका पहुंचाने में भी मदद मिलेगी। सरकार ने इस महीने की शुरुआत में भारत बायोटेक के अंकलेश्वर स्थित विनिर्माण संयंत्र को कोविड​​-19 रोधी कोवैक्सीन टीके का उत्पादन करने की मंजूरी दी थी।

भारत बायोटेक ने मई में ऐलान किया था कि उसने अंकलेश्वर स्थित अपनी सहायक कंपनी के संयंत्र में कोवैक्सीन की अतिरिक्त 20 करोड़ खुराक के उत्पादन की योजना बनाई है। हैदराबाद स्थित कंपनी ने कहा था कि वह अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली चिरोन बेहरिंग इकाई के विनिर्माण संयंत्र में कोवैक्सीन की अतिरिक्त 20 करोड़ खुराक बनाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत रविवार सुबह तक कोविड-19 (Covid-19) टीके की 63.09 करोड़ खुराक लगाई गई हैं।