महू में आर्थिक तंगी से परेशान व्यापारी ने पातालपानी में कूदकर की आत्महत्या

Whatsapp

महू। पिछले दिनों लापता हुए किराना व्यापारी मनीष खंडेलवाल की लाश पातालपानी झरने में मिली है। शनिवार शाम को उनकी मोटरसाइकिल इसी इलाके में मिली थी। जिसके बाद से ही उन्हें तलाश किया जा रहा था, शनिवार रात को उनका शव झरने में मिला। मनीष खंडेलवाल, किशनगंज क्षेत्र के इंद्रपुरी कालोनी में परिवार के साथ रह रहे थे और महू शहर के राज मोहल्ला में उनकी किराने की दुकान है। वे बीते तीन दिनों से गायब थे। खंडेलवाल घर से दुकान के लिए निकले थे और फिर वापस नहीं लौटे। इसके बाद उनका वाहन, दुकान की चाबी व पानी की बोतल शनिवार को पातालपानी क्षेत्र में मिले थे। पुलिस ने मनीष को पातालपानी के अलावा भगोरा, चोरडिया आदि सब जगह तलाश किया लेकिन रात तक कोई ठोस जानकारी नहीं मिली थी।

इसके बाद से ही पुलिस ने उनकी तलाश पातालपानी क्षेत्र में केंद्रित कर दी थी। जानकारी की मानें तो खंडेलवाल ने अपने व्यापार के लिए बाजार में दूसरे व्यापारियों से ब्याज पर बड़ा पैसा लिया था और वे हर महीने इसका मोटा ब्याज भी भर रहे थे, लेकिन लाकडाउन के दौरान और उसके बाद से ही दुकान में व्यापार नहीं के बराबर था। जिसके चलते उनकी आर्थिक स्थिति और भी बिगड़ रही थी। ऐसे में वे ब्याज का पैसा नहीं दे पा रहे थे। जिसके कारण उन्हें पैसा देने वाले लोग उन पर तरह-तरह से दबाब बना रहे थे। इसके चलते खंडेलवाल मानसिक रूप से काफी परेशान थे।

बताया तो यहां तक जा रहा है कि उन्हें पैसा न चुकाने पर जान से मारने तक की धमकी दी जा रही थी। फिलहाल इस मामले में पुलिस अब जांच शुरु कर रही है। पुलिस के मुताबिक मृतक की काल डिटेल ही इस मामले में अहम साबित हो सकती है। इसके अलावा परिवार के सदस्यों से भी खंडेलवाल द्वारा किए गए लेन-देन की जानकारी ली जा रही है।