जबलपुर के कुंडम में बनेगा गोवंश वन्य विहार

Whatsapp

जबलपुर। गोवंश के संरक्षण, संर्वधन के लिए जिले में गोवंश वन्य विहार को बनाया जाएगा। इसके लिए कुंडम के गंगईवीर ग्राम की 530 एकड़ भूमि को विकसित किया जाएगा। ये निर्णय मध्यप्रदेश गोपालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड की कार्य परिषद के अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, पशुपालन विभाग के उप संचालक डॉ. सुनीलकांत बाजपेयी सहित अन्य पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक लिया गया।

गौवंश वन्य विहार के नोडल अधिकारी डॉ. सुनील दीक्षित, जिला नोडल अधिकारी गौशाला डॉ. सौरभ गुप्ता की उपस्थिति में तय किया गया है कि गंगईवीर में आरक्षित और पूर्व से पशुपालन विभाग की अभिरक्षा में सुरक्षित 530 एकड़ भूमि पर गोवंश वन्य विहार विकसित किया जाएगा। बैठक में राज्य शासन की गोरक्षा संबंधी नीति और प्रदेश के मुख्यमंत्री के गो-संरक्षण हेतु संकल्प के अनुरूप मुख्यमंत्री गोसेवा योजना पर बोर्ड के अध्यक्ष का मार्गदर्शन प्राप्त किया।

ये सुविधाएं रहेंगी: बैठक में आरक्षित 530 एकड़ भूमि पर केटल शेड का निर्माण, पशु चिकित्सा केंद्र, गौवंश हेतु पेय-जल व्यवस्था, कर्मचारी आवास, कम्पाउंड वाल का निर्माण करने पर सहमति बनी। महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद ने अधिकारियों को विश्वास दिलाया कि शासन द्वारा निर्माण कार्य हेतु फंडिंग की जाएगी। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से कहा शासन, प्रशासन और समाज मिलकर गोवंश संरक्षण का कार्य करेंगे।

बेसहारा घूम रहे मवेशियों को मिलेगा ठौर: गोवंश वन्य विहार बन जाने के बाद बेसहारा घूम रहे मवेशियों को एक नया ठौर मिल जाएगा। वर्तमान में जिले भर में ऐसे सैकड़ों मवेशी है जो बेसहारा घूम रहे हैं। शहर के मुख्य मार्गो से लेकर गली-मोहल्लों में विचरण करते देखे जा रहे हैं। मुख्य सड़कों के बीच में मवेशियों की धमाचौकड़ी से यातायात भी बाधित हो रहा है।