एंटोनियो गुटेरेस समेत कई देशों के प्रमुखों ने की काबुल हवाईअड्डे पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा

Whatsapp

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने गुरुवार को काबुल हवाईअड्डे पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए कहा कि यह घटना अफगानिस्तान की जमीनी हालात की अस्थिरता को रेखांकित करती है। साथ ही अफगान लोगों के समर्थन में देश भर में तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए विश्व निकाय के रूप में हमारे संकल्प को मजबूत करती है।

महासचिव काबुल में और विशेष रूप से हवाई अड्डे पर चल रही स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने आतंकी हमले की निंदा करते हुए हताहतों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है। महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने दैनिक प्रेस वार्ता में अफगानिस्तान की स्थिति पर सवालों के जवाब में कहा कि संयुक्त राष्ट्र हताहतों और घायलों की गिनती कर रहा है। जहां तक हम इस समय जानते हैं, संयुक्त राष्ट्र के कर्मचारियों में कोई हताहत नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हवाई अड्डे के आसपास हमारे पास कुछ कर्मचारी थे, लेकिन वे सभी सुरक्षित हैं। दुजारिक ने कहा कि हमलावरों के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है। लेकिन जिसने भी जानबूझकर मासूम लोगों व बच्चों को निशाना बनाया वे हताश लोग हैं।

 ब्रिटिश पीएम ने अभियान जारी रखने की बात कही

लंदन रायटर से मिली खबर के अनुसार ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने काबुल में आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि हमारी सरकार काबुल से अपनों को निकालने का अभियान जारी रखेगी। घटना के बाद एक आपात बैठक की अध्यक्षता करने के बाद उन्होंने कहा कि यह हमला हमारी प्रगति को बाधित नहीं कर सकता।

उधर फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि आतंकी हमले के बाद काबुल से लोगों को निकालने का अभियान बहुत खतरनाक हो गया है। लोगों को निकालने के लिए हम लोग अब अमेरिका के साथ समन्वय बनाकर काम करेंेगे।

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि उनका देश अफगानिस्तान से बाहर निकलने वालों की मदद करता रहेगा।