इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने कहा- हमारे गेंदबाजों ने भारतीय टीम की इस खामी को किया उजागर

Whatsapp

इंग्लैंड की क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने भारत की बल्लेबाजी को लेकर एक बड़ा दावा किया है। नासिर हुसैन का कहना है कि भारतीय बल्लेबाजी क्रम की खामी को इंग्लैंड ने यहां हेडिंग्ले में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट के पहले दिन अच्छी तरीके से उजागर कर दिया। भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में महज 78 रन पर ढेर हो गई और कोई भी बल्लेबाज 20 का आंकड़ा भी नहीं छू सका।

नासिर हुसैन ने डेली मेल के लिए लिखे अपने कालम में कहा, “टीम इंडिया के कई और विभाग है जो चिंता का विषय हैं। मैंने पहले भी कहा है कि रिषभ पंत को इंग्लैंड में नंबर 6 पर उतार कर ऊपरी क्रम में खिलाया जा रहा है। वे घरेलू वातावरण में ऐसा कर सकते हैं, लेकिन यहां नहीं। यही चीज रवींद्र जडेजा के लिए है जो सातवें नंबर पर उतर रहे हैं। पहले दिन इस बात की पुष्टि हुई कि भारत की बल्लेबाजी क्रम में खामी है, जिसे इंग्लैंड ने उजागर किया है।”

इंग्लैंड के दिग्गज खिलाड़ी और मौजूदा क्रिकेट एक्सपर्ट नासिर हुसैन ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि भारत ने यहां गलत एकादश का चयन किया। आप देखिए ये पिच कैसी है और अगर टीम में रविचंद्रन अश्विन होते तो यह एक मजबूत टीम होती।” उल्लेखनीय है कि भारत की पहली पारी तीसरे टेस्ट मैच के पहले ही दिन 78 रन पर ढेर हो गई थी। इंग्लैंड ने दिन का खेल का खत्म होने तक बिना विकेट खोए 120 रन बनाए थे और 42 रनों की बढ़त हासिल कर ली थी।

भारतीय टीम चार तेज गेंदबाज और एक स्पिनर के साथ उतरी, लेकिन टीम को यहां बल्लेबाजी में बड़ी खामी नजर आई, क्योंकि रवींद्र जडेजा बल्लेबाजी नहीं कर सके और गेंदबाजी में स्पिनर की कमी खली, क्योंकि जडेजा उस तरह का दबाव नहीं बना पाए, जिसकी उम्मीद की जा रही थी। मैच के पहले दिन भारत को एक भी सफलता नहीं मिली। अश्विन को पिच देखने के बाद भी कप्तान विराट कोहली ने मौका नहीं दिया।