भाजपा संगठन के प्रमुख मोर्चों में मध्य प्रदेश का दमदार प्रतिनिधित्व

Whatsapp

भोपाल। भाजपा संगठन में राष्ट्रीय स्तर पर मध्य प्रदेश का महत्व बढ़ा है। पार्टी के कई प्रमुख मोर्चों में प्रदेश के नेताओं के पास जिम्मेदारी है। इससे साबित होता है कि पार्टी की संगठनात्मक रीति-नीतियों में प्रदेश की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो गई है। संगठन में प्रदेश की महत्वपूर्ण भूमिका के पीछे बड़ी वजह प्रदेश में भाजपा का मजबूत जनाधार होना है। हाल ही में भारतीय जनता युवा मोर्चा की कार्यकारिणी में भी प्रदेश को प्रतिनिधित्व मिला है। भक्ति शर्मा और आलोक दंगस को सदस्य नियुक्त किया गया है।

पार्टी संगठन में प्रदेश के प्रतिनिधित्व की स्थिति अभी यह है कि अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष लालसिंह आर्य हैं। पिछड़ा वर्ग मोर्चा में उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी कृष्णा गौर के पास है। किसान मोर्चा में बंशीलाल गुर्जर पदाधिकारी हैं।

अनुसूचित जनजाति मोर्चा में गजेंद्र पटेल राष्ट्रीय महामंत्री हैं तो महिला मोर्चा में सुखप्रीत कौर के पास यह जिम्मेदारी है। इनकी अतिरिक्त संगठन के राष्ट्रीय दायित्व में प्रदेश से कैलाश विजयवर्गीय राष्ट्रीय महामंत्री हैं तो सह कोषाध्यक्ष का दायित्व सुधीर गुप्ता के पास है।

जयभान सिंह पवैया महाराष्ट्र के सह प्रभारी हैं। भाजपा नेताओं का मानना है कि संगठन में प्रदेश के नेताओं की मजबूत स्थिति से फायदा मिलता है। प्रदेश सरकार की जनहितैषी योजनाओं के लिए केंद्र सरकार के समक्ष अपनी बात रखने में आसानी हो जाती है।