खनिज विभाग के कर्मचारी की मौत पर पुलिस की भूमिका संदिग्ध ! परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप

Whatsapp

पन्ना: पन्ना में खनिज विभाग में पदस्थ कर्मचारी की संदेहास्पद स्थितियों में मौत का मामला सामने आया है। पूरी घटना पन्ना कोतवाली थाना क्षेत्रान्तर्गत सिविल लाइन चौकी के नवीन कलेक्ट्रेट भवन के पीछे की है। जहां कुछ दिन पहले खनिज विभाग में पदस्थ कर्मचारी से 4 आरोपियों ने मारपीट करके पकड़कर जबरन प्वाइजन (सल्फास) खिलाया था। इस मामले में पुलिस पर गंभीर आरोप लग रहे हैं कि मौत से पहले यदि पुलिस मृतक के बयान ले लेती तो अब तक अपराधी सलाखों के पीछे होते लेकिन पुलिस समय को टालती रही और लगातार जांच का बहाना बना रही है। कुल मिलाकर सारे मामले में पुलिस की कार्य प्रणाली संदेह के घेरे में है। वहीं दूसरी ओर आरोपी धमकियां देते खुलेआम घूम रहे हैं।

दरअसल, 13 दिन पहले खनिज विभाग में पदस्थ कर्मचारी की संदिग्ध मौत हो गई इससे पहले कि कर्मचारी दम तोड़ता परिजन पुलिस के पास पहुंचे लेकिन पुलिस ने कुछ खास दिलचस्पी नहीं दिखाई। वहीं परिजनों का आरोप है कि पुलिस कर्मचारी की मृत्यु के उपरांत ही पहुंची। आरोप है कि पुलिस रेत माफिया आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रही है। वही उक्त सभी आरोपी 22/8/21 को भी मारुति एस्प्रेसो कार से पन्ना आये थे। परिजनों की मानें तो आरोपी घटना वाले दिन पुलिस को खरीदने का दावा कर रहे थे। इस दौरान उन्हें न्याय मिलने की कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही।