राजधानी में डिक्‍की के बिजनेस फेसिलिटेशन सेंटर का उद्घाटन, युवाओं को स्‍वरोजगार के संदर्भ में मिलेगा मार्गदर्शन

Whatsapp
भोपाल। दलित इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (डिक्की) की नेशनल काउंसिल मीट 24 अगस्त मंगलवार को होटल पलाश में आयोजित हुई। मध्यप्रदेश में डिक्की के सहयोग से केंद्र सरकार के तीन प्रमुख जागरूकता कार्यक्रमों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लांच किया। इस कार्यक्रम में राजधानी भोपाल में स्‍थापित डिक्‍की के पहले बिजनेस फेसिलिटेशन सेंटर का भी शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में प्रदेश के एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, खाद्य एवं नगारिक मंत्री बिसाहूलाल सिंह, डिक्की के संस्थापक सदस्य और आइआइएम जम्मू के बोर्ड चेयरमैन पद्मश्री मिलिंद कांबले, राष्ट्रीय अध्यक्ष पद्मश्री रविकुमार नारा, ट्राइफेड के एमडी प्रवीर कृष्ण (आइएस), आइएफसीआइ वेंचर कैपिटल फंड के एमडी शिवेन्द्र तोमर, सिडबी, नई दिल्ली के जनरल मैनेजर आरके सिंह, डिक्की के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजीव डांगी, संतोष कांबले तथा डॉ. मनोज आर्य और अध्यक्ष डॉ. अनिल सिरवैया मौजूद रहे। डिक्की मध्यप्रदेश के अध्यक्ष डॉ. अनिल सिरवैया ने बताया कि मौजूदा वित्तीय वर्ष की पहली नेशनल काउंसिल मीट की थीम आजादी के अमृत महोत्सव पर केंद्रित है। मीट में राज्यवार गतिविधियों का प्रस्तुतीकरण और मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यों में एससी-एसटी उद्यमिता विकास की कार्ययोजना को प्रस्तुत किया गया। साथ ही उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों में होने वाले कार्यक्रमों पर चर्चा की गई।
बिजनेस फेसिलिटेशन सेंटर का उद्घाटन
डिक्की के संस्थापक अध्यक्ष पद्मश्री मिलिंद कांबले और राष्ट्रीय अध्यक्ष पद्मश्री रविकुमार नारा ने आज मध्यप्रदेश में डिक्की के पहले बिजनेस फेसिलिटेशन सेंटर और स्टेट ऑफिस का शुभारंभ किया। जवाहर चौक एमएलए. क्वाटर्स भोपाल में स्थित सेंटर में को-वर्किंग स्पेस और कांफ्रेंस रूम जैसी सुविधाएं हैं। डिक्की के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अनिल सिरवैया ने बताया कि यह बिजनेस सेंटर वन स्टॉप रिसोर्स सेंटर के रूप में काम करेगा। एक उद्यमी या स्टार्टअप को आवश्‍यक सभी तरह की सुविधाएं और मार्गदर्शन इस सेंटर से मिलेंगे। यहां अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञ उपलब्ध होंगे। भोपाल के बाद इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में भी ऐसे सेंटर खोले जाएंगे।