मासूम का अपहरण करने वाले पंकज की नशे के अड्डों पर तलाश,नशेड़ियों से पूछताछ

Whatsapp

ग्वालियर। चौरसिया कालानो से दोस्त विवेक कुशवाह के बेटे ऋषभ के अपहरण का आरोपित पंकज तोमर दूसरी दिन भी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है। आरोपित की पुलिस नशे के अड्डों पर तलाश कर रही है। पुलिस आरोपित तक पहुंचने के लिए उसके नशा करने वाले नशेड़ियों से पूछताछ कर रही है। बच्चे को पुलिस ने अपहरण के चंद घंटों में ही बरामद कर लिया था, लेकिन उसके अपहरण का कारण अब तक पता नहीं चल सका है।

चौरसिया कालोनी निवासी विवेक कुशवाह का तीन साल का बच्चा शनिवार की रात को घर के सामने से गायब हो गया। घर के पास लगे सीसीटीवी कैमरे से पता चला कि बच्चे को उसके पिता का दोस्त पंकज तोमर ही उंगली पकड़कर साथ ले गया। पंकज स्मैक का आदी है। घरवालों की सूचना पर माधवगंज थाना पुलिस ने पंकज तोमर के खिलाफ बच्चे के अपहरण का मामला दर्ज किया। आरोपित पर बच्चे को मुक्त करने के लिए उस पर दवाब बनाना शुरू किया। पुलिस का दावा है कि तड़के आरोपित बच्चे को अपने घर के पास के मंदिर पर छोड़कर भाग गया। क्योंकि पुलिस उसके घर पर नजर रख रही थी। बच्चे के बरामद होने के बाद पुलिस अब आरोपित की तलाश कर रही है। आरोपित एसएएफ के हवलदार का बेटा है। पहले पंकज भी चौरसिया कालोनी में रहता था। अपह्रत बच्चे का पिता व आरोपित एक साथ बैठकर नशा करते थे।

अपहरण का इरादा क्या था- माधवगंज थाना प्रभारी वर्षा सिंह का कहना है कि आरोपित के पकड़ में आने के बाद बच्चे के अपहरण का कारण पता चल सकेगा। क्योंकि घरवालों ने बच्चे का अपहरण का कोई कारण बताया नहीं है। आरोपित ने बच्चे को ले जाने के बाद फिरौती मांगी नहीं है, और बच्चे को सात घंटे तक अपने कब्जे में रखने के बाद कोई क्षति पहुंचाने का प्रयास किया। और नहीं बच्चे के साथ मारपीट की है। पुलिस का कहना है कि आरोपित के पकड़ में आने के बाद अपहरण का कारण सामने आ सकेगा।