गिरदावरी में नहीं बरतें कोताही

Whatsapp

बिलासपुर। कलेक्टर अजीत वसंत ने कहा कि जिले में राजस्व, पंचायत, कृषि और उद्यान विभाग के अधिकारियों द्वारा किसानों के खेतो में पहुंचकर खेत के कितने रकबे में कौन सी फसल की बुआई की है। इसकी जानकारी भुइयां पोर्टल में प्रविष्ट करें। उन्होंने कहा कोताही बदर्शत नहीं की जाएगी। कलेक्टर वसंत ने मुंगेली तहसील के ग्राम देवरी के किसानों के खेताें में पहुंचकर राजस्व, पंचायत, कृषि और उद्यान विभाग के अधिकारियों द्वारा किए जा रहे गिरदवाली कार्य का निरीक्षण किया और नक्शे से फसल का रकबा मिलान कर गिरदवाली कार्यों की जांच की।

राजस्व अभिलेखों की शुद्धता, समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इत्यादि का क्रियान्वयन, गिरदवाली की शुद्धता पर निर्भर करता है और किसान त्रुटि रहित गिरदवाली से ही लाभान्वित होते हैं। अत: उन्हाेंने गिरदवाली कार्य को शत-प्रतिशत त्रृटि रहित सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कृषि भूमि पर किए गए अतिक्रमण को चिन्हाकित करने के साथ पड़त भूमि का रकबा, धान के किस्म, पेड़, मकान, सिंचाई के साधन इत्यादि की भी प्रविष्टि के संबंध में जानकारी प्राप्त की

निरीक्षण के दौरान कृषि प्रयोजन से अन्य मद में परिवर्तित भूमि का रकबा को धान के रकबे से अलग करने के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा इस कार्य में गंभीरता से कार्य करें। इस अवसर पर गिरदवाली के कार्य को निर्धारित अवधि में पूरा कर अभिलेखों को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी रोहित व्यास, मुंगेली अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व नवीन भगत सहित बड़ी संख्या में राजस्व विभाग के कर्मचारी मौजूद थे।