तालिबान कुछ हफ्तों के भीतर जारी करेगा नई सरकार के ढांचे को लेकर लेखा जोखा, तालिबान के सह-संस्थापक काबुल में मौजूद

Whatsapp

काबुल। विद्रोहियों के दक्षिण एशियाई राष्ट्र के तेजी से अधिग्रहण के बाद इस्लामी आंदोलन के एक प्रवक्ता ने शनिवार को कहा, ‘तालिबान का लक्ष्य अगले कुछ हफ्तों में अफगानिस्तान के लिए एक नए शासन ढांचे को जारी करना है।’

एक अधिकारी ने रायटर को बताया, ‘तालिबान में कानूनी, धार्मिक और विदेश नीति के विशेषज्ञों का लक्ष्य अगले कुछ हफ्तों में नए शासी ढांचे को पेश करना है। बता दें कि तालिबान ने पिछले हफ्ते अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद से अपनी ओर से एक उदार छवि पेश करने की कोशिश की है, लेकिन वहां से सामने आ रही तस्वीरें व वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग किस कदर घमराए हुए हैं और बल व जबरदस्ती उनपर राज किया जा रहा है।

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद अपनी नई सरकार की रणनीति को दिशा देने के लिए तालिबान के सह-संस्थापक तालिबान में मौजूद है। एक अधिकारी के मुताबिक, ‘तालिबान के सह-संस्थापक बरादर काबुल में सरकार बनाने पर बातचीत के लिए पहुंचे हुए हैं।’ बता दें कि तालिबान ने अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल पर कब्‍जा कर अपनी सत्‍ता का रास्‍ता पूरी तरह से साफ कर लिया है। अप्रैल से अगस्‍त के बीच तालिबान ने जिस तेजी के साथ अफगानिस्‍तान के इलाकों को एक के बाद एक कर अपने कब्‍जे में लिया वो वास्‍तव में हैरान करने वाली है। वर्तमान समय में तालिबान के कब्‍जे के बाद काबुल में अफरातफरी का माहौल है। काबुल एयरपोर्ट पर देश छोड़कर जाने वालों की जबरदस्‍त भीड़ है। यहां के बिगड़ते हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वहां की बेकाबू भीड़ पर काबू पाने के लिए गोलियां तक चलाई गई हैं।

यह सब कुछ अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन के द्वारा किए 11 सितंबर से पहले अपनी सेना की वापसी का एलान के बाद हुआ। अमेरिकी सैनिकों की 1 मई से वापसी शुरू हो गई थी। इसके साथ ही अमेरिका ने अपने सबसे लंबे चले युद्ध को खत्‍म करने का एलान भी कर दिया था।