लड़की घर से भागी और पौने दो लाख में बिक गई

Whatsapp

पीथमपुर। सौतेले पिता की प्रताड़ना से त्रस्त होकर घर से भागी 15 वर्षीय किशोरी ऐसे लोगों के चंगुल में फंसी, जिन्होंने उसे पौने दो लाख रुपए में बेच दिया। मामले का पता तब चला जब पीड़िता बदमाशों के चंगुल से भागकर पीथमपुर थाने पहुंची। बुधवार देर रात छह आरोपितों पर प्रकरण दर्ज कर पुलिस ने गुरुवार को पांच को गिरफ्तार कर लिया है। घटना सात अप्रैल से 14 अगस्त 2021 के बीच की है। भोपाल के समीप गांव की रहने वाली किशोरी पीथमपुर के इंडोरामा क्षेत्र में रह रही थी। उसने पुलिस को बताया कि गांव में सौतेला पिता नशा करता हैं। उनकी प्रताड़ना से बचने के लिए वह कुछ दिन पहले गांव के युवक के साथ पीथमपुर पहुंची थी, जहां वह युवक उसे अपनी मौसी के घर ले गया। डेढ़ महीने तक युवती वहीं रही।

युवक की मौसी ने उसको नेमीचंद्र नामक युवक के पास भेज दिया। नेमीचंद्र पीथमपुर से नालछा के रहने वाले कृष्णा के पास ले गया। यहां किशोरी से मजदूरी के साथ गलत हरकतें हुईं। जब विरोध किया तो कृष्णा ने किशोरी को बताया कि उसे एक लाख 70 हजार रुपये में खरीदा है। इसके बाद मौका पाकर किशोरी वहां से भाग निकली। एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि आरोपितों में दो महिलाएं भी शामिल हैं।

ये गिरफ्तार : पुलिस ने आशीष निवासी कालका माता मंदिर गली महादेव आटा चक्की इंडोरामा, राधाबाई कामदार मछली मार्केट इंडोरामा, सीताराम, अहिल्याबाई, कृष्णा मलइया निवासी नालछा को गिरफ्तार कर लिया है। नेमीचंद्र निवासी सागौर फरार है।