Jyotiraditya Scindia ने की सेना की तारीफ, बोले- काबुल हवाई क्षेत्र बंद होने के बाद भी भारतीयों को सुरक्षित निकाला

Whatsapp

अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों को निकालने का काम जारी है। इसमें भारतीय वायुसेना की अहम भूमिका रही है। अब केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बयान जारी कर सेना की तारीफ की है। साथ ही उन्होंने बताया कि भारतीय नागरिकों को सुरक्षा लाने के लिए प्रयास जारी हैं। सिंधिया ने कहा, काबुल हवाई क्षेत्र बंद होने के बाद भी भारतीय वायुसेना (IAF) के C130 हरक्यूलिस ग्लोबमास्टर विमान ने हमारे नागरिकों को देश वापस लाने के लिए अफगानिस्तान के लिए उड़ान भरी। हमारे लोगों को सुरक्षित वापस लाने के लिए ये उड़ानें चल रही हैं। बता दें, अब तक 150 से अधिक भारतीयों को सुरक्षित स्वदेश लाया जा चुका है और जो फंसे हैं, उनकी वापसी के लिए प्रयास जारी हैं। इस संबंध में भारत और अमेरिका के विदेश मंत्री लगातार एक दूसरे से सम्पर्क बनाए हुए हैं।

बता दें, अभी भी काबुल एयरपोर्ट अमेरिकी सेना के कब्जे में हैं। बड़ी संख्या में अमेरिकी नागरिक भी वहां फंसे हैं। अमेरिका का कहना है कि जब तक सभी नागरिक सुरक्षित नहीं निकाल लिए जाते, उसका ऑपरेशन जारी रहेगा।

जारी है अमेरिका का मिन: अमेरिका में व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, 19 अगस्त को काबुल हवाई अड्डे से अमेरिका के सी-17 विमानों ने 16 उड़ान भरीं और लगभग 3,000 लोगों को निकाला। इनमें लगभग 350 अमेरिकी नागरिक थे। व्हाइट हाउस के एक अधिकारी का कहना है कि अमेरिकी नागरिकों और उनके परिवार के सदस्यों के साथ ही कमजोर अफगान नागरिकों को भी सुरक्षित निकाला जा रहा है। इसी तरह ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि तीन उड़ानों के बाद 160 से अधिक ऑस्ट्रेलियाई और अफगान नागरिकों को काबुल से निकाला गया है।