मेरठ: मंदिर के अंदर छात्रा की गर्दन कटी लाश मिलने से हड़कंप, बलि देने की आशंका

Whatsapp

मेरठ: यूपी में मेरठ के खरखौदा थाना क्षेत्र के एक गांव में उस वक्त सनसनी फैल गई, जब मंदिर में एक एमए की छात्रा की गर्दन कटी लाश पड़ी मिली। आस-पास के लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस के मौके पर पहुुंचने से पहले ही परिवार के लोग शव का अंतिम संस्कार कर दिया। जिसके चलते पुलिस मामले में फॉरेंसिक टीम को भेजकर तथ्य जुटा रही है। पुलिस का कहना है कि पहली नजर में यह अंधविश्वास का मामला लग रहा है।

जानकारी के अनुसार थाना खरखौदा क्षेत्र के एक गांव की निवासी 22 वर्षीय छात्रा हापुड़ के एक कॉलेज से एमए कर रही थी। बताया जा रहा है कि छात्रा पूजा-पाठ बहुत करती थी। सोमवार दोपहर को वह बिना किसी को बताए घर से निकल गई। पुलिस ने बताया कि देर तक छात्रा के घर नहीं लौटने पर परिजन ने तलाश शुरु की। इस बीच, कुछ ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने एक लड़की को गांव के देवी के मंदिर की तरफ जाते देखा है। परिजन वहां पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था। खटखटाने पर जब दरवाजा नहीं खुला तो उन्होंने अनहोनी की आंशका में ग्रामीणों के साथ मिलकर दरवाजा तोड़ दिया। अंदर का दृश्य दखकर परिवार के लोगों और ग्रामीणों के होश उड़ गए। अंदर छात्रा की लाश फांसी के फंदे से झूल रही थी। पुलिस ने बताया कि गर्दन कटी हुई थी जिसपर गहरा घाव था और काफी खून बह चुका था। इसके बाद परिजन ने पुलिस को बिना सूचना दिए ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

इस बारे में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रभाकर चौधरी ने बताया कि बुधवार शाम तक खरखौदा के आस-पास के गांवों में युवती के बलि देने की सूचना फैलने लगी जिसके बाद निरीक्षक संजय शर्मा ने मौके पर पहुंचकर मौका-ए-वारदात का मुआयना कर परिवार से पूछताछ की। मंदिर परिसर का निरीक्षण करने के बाद कुछ साक्ष्य कब्जे में लिए गए। पुलिस का कहना है कि संभवत: युवती ने अंधविश्‍वास में यह कदम उठाया है लेकिन मौत का कारण जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।