शिखर सम्मेलनः मोदी-शी मुलाकात के लिए तटीय मंदिर पर होगी विश्वस्तरीय सजावट

Whatsapp

तमिलनाडुः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच अगले महीने होने वाले शिखर सम्मेलन के लिए यहां के तट पर स्थित ऐतिहासिक शिव मंदिर और पांच रथों की विश्वस्तरीय प्रकाश व्यवस्था से सजावट की जाएगी ताकि वे जीवंत हो उठें। साथ ही यहां पेड़-पौधे और आसपास के स्थानों को भी सुंदर बनाया जाएगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ऐतिहासिक स्थल पर बेहतर प्रकाश व्यवस्था और साज-सजावट से शीर्ष नेताओं के लिए फोटो खिंचवाने का शानदार अवसर होगा। प्रकाश व्यवस्था अस्थायी हो सकती है।

अधिकारियों के एक दल ने कुछ दिनों पहले इस स्थान का दौरा किया था ताकि प्रकाश व्यवस्था करने, नये पत्थर से ‘फ्लोर’ बनाने और स्थान को सुंदर बनाने जैसे कार्यों को पूरा किया जा सके। दल में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) विभाग के अधिकारी और सलाहकार भी शामिल थे। उन्होंने ऐतिहासिक स्थल पर नेताओं के दौरे के लिए अस्थायी यात्रा विवरण भी तैयार किया है।

यात्रा विवरण के मुताबिक दोनों नेता तटीय मंदिर की परिक्रमा करेंगे, प्रदक्षिणा करेंगे और फोटो खिंचवाने के लिए नजदीक के स्थान तक जाएंगे। इसी तरह वे समुद्र तट के किनारे बालू पर पैदल चलेंगे। दोनों नेता एक बेंच पर भी बैठ सकते हैं।

एएसआई के मुताबिक समुद्र तट के किनारे स्थित मंदिर भगवान शिव का है जिसे पल्लव राजाशिमा (नरसिंह द्वितीय) ने 700 – 728 ई. में बनवाया था। इस ऐतिहासिक स्थल को विश्व विरासत का दर्जा हासिल है और यह सातवीं सदी में बना था।