मंत्री जी की फिसली जुबान, पेट्रोल-डीजल के बढ़े दाम पर अपनी ही सरकार पर साधा निशाना

Whatsapp

नीमच: मध्यप्रदेश के कैबिनेट मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा ने पेट्रोल और डीजल के बढ़े दाम को लेकर अपनी ही सरकार पर सवाल खड़े कर दिए हैं। मंत्री कराड़ा ने कहा है कि पेट्रोल के दाम बढ़ाना दुर्भाग्यपूर्ण बात है मध्यप्रदेश त्रासदियों से गुजर रहा हैं त्रासदी पर त्रासदी हो रही है! यह भी एक त्रासदी है।

दरअसल जिले में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने पहुंचे मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा के एक बयान से उनकी ही सरकार की फजीहत हो गई। जब मीडिया ने उनसे पेट्रोल-डीजल पर बढ़े टैक्स पर सवाल किया, तो उन्होंने कहा कि पेट्रोल का दाम बढ़ाना दुर्भाग्यपूर्ण बात है। PM मोदी की आर्थिक नीति में एक और काला अध्याय जुड़ गया। लेकिन जब मीडिया ने ही कह दिया कि ये नियम तो आपकी सरकार ही लेकर आई है। इसके बाद अपनी जुबान को संभालते हुए मंत्री कराड़ा ने कहा कि वो चलता है, जितना पैसा होगा उतना कलेक्शन करेंगे।

पिछली सरकार खजाना खाली कर गई…
अपनी जुबान संभालते हुए मंत्री ने कहा कि बीजेपी के लोग प्रदेश का खजाना खाली करके चले गए, तिजोरी में झाडू लगा दी। जब मंत्री कराड़ा की किरकिरी हो चुकी थी तो उन्होंने लगे हाथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आर्थिक नीतियों कि भी आलोचना कर डाली और कहा कि हमने जो रेट बढ़ाये है वो नार्मल हैं।

बता दे कि शुक्रवार की रात में मध्यप्रदेश सरकार नें कांग्रेस सरकार ने न सिर्फ पेट्रोल, डीजल बल्कि शराब के दाम भी बढ़ा दिए हैं। कमलनाथ सरकार ने खाली पड़े खजाने को भरने के लिए पेट्रोल, डीजल पर 5 और शराब पर 10 फीसदी वैट की दरें बढ़ा दी हैं। नई दरें लागू होने के बाद अब प्रदेश की जनता को पेट्रोल पर 28 की जगह 33 % और डीजल पर 18 की जगह 23 % वैट देना होगा वहीं शराब पर अब 10% वैट देना होगा।