दूसरे राज्यों के मुकाबले MP में पेट्रोल-डीजल की कीमत सबसे ज्यादा

Whatsapp

भोपाल: मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर वैट की दर पांच फीसदी बढ़ाकर प्रदेश की जनता को बढ़ा झटका दिया है। प्रदेश में अब पेट्रोल और डीजल महंगा हो गया है। पेट्रोल और डीजल के दाम दूसरे राज्यों की अपेक्षा मप्र में सबसे ज्यादा हो गए हैं।

दूसरे राज्यों की अपेक्षा मध्य प्रदेश में महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल
पेट्रोल-डीजल में 5% वैट बढ़ोतरी के बाद शनिवार को मध्यप्रदेश में इनके दाम बाकी राज्यों के औसत दाम से भी ज्यादा हो गए हैं. अभी डीजल के सर्वाधिक औसत दाम तेलांगाना में 72.52 रुपए हैं, जबकि मध्यप्रदेश में यह 72.89 रुपए है। इसी तरह अब तक पेट्रोल के अधिकतम औसतन दाम महाराष्ट्र में 79.33 रुपए थे, लेकिन अब मध्यप्रदेश में शनिवार को पेट्रोल के औसत दाम 81.60 रुपए प्रति लीटर तक रहे।

देश में सर्वाधिक ट्रक मध्यप्रदेश से ही गुजरते हैं
ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट कांग्रेस एसोसिएशन के मैनेजिंग कमेटी सदस्य विजय कालरा ने कहा कि मप्र से हर दिन करीब 35 हजार ट्रक गुजरते हैं, जोकि पूरे देश में सर्वाधिक है। वही पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने के बाद ट्रांसपोटर्स ने अब यूपी और महाराष्ट्र जैसे अन्य राज्यों से डीजल भरवाना शुरु कर दिया है।

कांग्रेस ने वचन पत्र में दाम नहीं बढ़ाने का किया था वादा 
विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपने वचनपत्र में पेट्रोल और डीजल पर के दाम नहीं बढ़ाने का वादा किया था। वहीं जुलाई में केंद्र द्वारा सेंट्रल एक्साइज बढाने पर छह जुलाई को मप्र ने भी तत्काल पेट्रोल और डीजल पर टैक्स बढ़ा दिया था, वहीं अब एक बार फिर पांच फीसदी टैक्स बढा दिया है। दाम बढ़ने के बाद पड़ोसी राज्यों ने मप्र की जगह उन्ही के राज्य में डीजल भरवाने को लेकर पोस्टर लगा दिए हैं। यहीं नहीं महाराष्ट्र के एक पेट्रोल पंप पर यहां डीजल मप्र की अपेक्षा में 4.55 रुपए और पेट्रोल 4.10 रुपए सस्ता होने के पोस्टर लगाया गया है।