अमरनाथ यात्रा: बम-बम भोले के जयकारों के साथ शिवभक्तों का पहला जत्था रवाना, 2234 यात्री शामिल

Whatsapp

जम्मू: जम्मू-कश्मीर में ‘बम बम भोले’ और ‘हर हर भोले’ के नारों के साथ रविवार को अमरनाथ यात्रियों का पहला जत्था हिम शिवलिंग के दर्शन के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच रवाना हुआ। राज्यपाल के सलाहकार केके शर्मा ने यहां के भगवती नगर यात्री निवास आधार शिविर से हरी झंडी दिखाकर 2234 यात्रियों पहले जत्थे को रवाना किया। यात्रियों का पहला जत्था आधार शिविर से 93 वाहनों में सवार होकर बालटाल तथा पहलगाम मार्गो से पहुंचकर बर्फानी बाबा के दर्शन के लिए रवाना हुआ।

बालटाल मार्ग से होकर जाने वाले यात्रियों 203 महिलाएं और 10 बच्चे शामिल हैं जो नौ एचएमवी एवं 33 एलएमवी और तीन मोटरसाइकिलों समेत 45 वाहनों में सवार हैं। पहलगाम मार्ग से जाने वाले 1183 यात्रियों में 130 महिलाएं तथा सात बच्चे शामिल हैं जो 48 वाहनों पर सवार हैं। हिमलिंग के दर्शन के लिए 45 साधु भी रवाना हुए हैं। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर मोटरसाइकिल और जिप्सी सवार केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का काफिला यात्रियों के साथ है। श्रीनगर से इस यात्रा की शुरूआत कल यानी सोमवार को होगी। 46 दिनों तक चलने वाली यह यात्रा रक्षा बंधन के दिन 15 अगस्त को समाप्त होगी।

बता दें कि जम्मू से लेकर कश्मीर तक सुरक्षा व्यवस्था चौक-चौबंद की गई है। यात्रा पर आतंकी हमले के मिले इनपुट के चलते सुरक्षा एजैंसियां और ज्यादा सतर्क हो गई हैं। जम्मू हाईवे से लेकर अमरनाथ यात्रा मार्ग के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बलों को तैनात कर दिया गया है। यात्रियों को पुख्ता सुरक्षा मुहैया करवाने के लिए स्वयं राज्यपाल लगातार सुरक्षा प्रबंधों का जायजा ले रहे हैं। राज्यपाल सत्य पाल मलिक नहीं चाहते कि यात्रा में किसी किस्म की बाधा आए।