कलेक्टर और पूर्व SDM विवाद में सामने आया नया मोड़, अब कमिश्नर करेंगे जांच

Whatsapp

होशंगाबाद: प्रदेश में बहुचर्चित कलेक्टर व पूर्व SDM विवाद में अब जांच शुरू हो चुकी है। मुख्य सचिव ने होशंगाबाद कमिश्नर रविंद्र मिश्रा को जांच अधिकारी बनाते हुए पूरे मामले में जांच रिपोर्ट की मांग की है। कमिश्नर को 3 दिन का समय देते हुए पूरे मामले की रिपोर्ट भी तलब की गई है। जिसके बाद रविवार को कमिश्नर कार्यालय में दिन भर गहमागहमी का दौर रहा।

इस दौरान कलेक्टर शैलेंद्र सिंह पूर्व SDM रवीश श्रीवास्तव, तहसीलदार शैलेंद्र बडोनिया सहित एसडीएम कार्यालय के कर्मचारी अपना बयान देने कमिश्नर कार्यालय पहुंचे और करीब चार-पांच घंटे चली प्रक्रिया के बाद कमिश्नर रविंद्र मिश्रा ने बताया कि शासन द्वारा पूरे मामले की जांच रिपोर्ट मांगी गई थी। जिसके तहत सभी अधिकारियों और कर्मचारियों से घटना के संबंध में जानकारी लेकर रिपोर्ट तैयार की जा रही है जो शाम तक शासन को भेज दी जाएगी। इस दौरान मामले को लेकर उठ रहे तमाम सवालों के जवाब में कमिश्नर रविन्द्र मिश्रा ने कहा कि जांच रिपोर्ट में सभी बातों को शामिल किया गया है और रिपोर्ट इसी आधार पर भेजी जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले के दौरान जितने लोग मौजूद थे उन सभी के बयान लिए गए हैं हालांकि कमिश्नर मिश्रा ने खुलकर कुछ भी बोलने से परहेज किया। वहीं कलेक्टर शैलेंद्र सिंह और पूर्व एसडीएम रवि श्रीवास्तव ने मीडिया से चर्चा नहीं की। पूर्व एसडीएम से अपने आरोपों को लेकर जब मीडिया ने पूछना चाहा तो उन्होंने कहा कि इस संबंध में मैं कुछ भी नहीं बोल सकता। एसडीएम चुप्पी साधने  से संदेह घेरे में नजर आ रहे हैं वही कलेक्टर शैलेंद्र सिंह मीडिया के सवालों पर मुस्कुराते हुए रवाना हो गए।