सिवनी में बसों में कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं

Whatsapp

जबलपुर ,बालाघाट ,छिंदवाड़ा और अन्य जिलों से आ रही बसों में नहीं हो रहा गाइडलाइंस का पालन
राष्ट्र चंडिका सिवनी. कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे खतरों के बीच सरकार ने प्रशासन को सख्ती से पालन करने का आदेश जारी किए गया है। इसमें सभी अधिकारियों को इसके लिए कोविड गाइडलाइंस का हर हाल में अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा गया है। बावजूद इसके सड़कों पर बेरोकटोक ओवरलोड वाहनों का परिचालन जारी है। कोरोना संकट में बिना शारीरिक दूरी व मास्क पहने भेड़ बकरियों की तरह यात्री बसों में भरे हुए नजर आ रहे हैं।  कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे खतरों के बीच सरकार ने प्रशासन को सख्ती से पालन करने का आदेश जारी किए गया है। इसमें सभी अधिकारियों को इसके लिए कोविड गाइडलाइंस का हर हाल में अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा गया है। बावजूद इसके सड़कों पर बेरोकटोक ओवरलोड वाहनों का परिचालन जारी है। कोरोना संकट में बिना शारीरिक दूरी व मास्क पहने भेड़ बकरियों की तरह यात्री बसों में भरे हुए नजर आ रहे हैं। बस संचालकों द्वारा सरकार के गाइडलाइन का बिलकुल पालन नही किया जा रहा है। जिसके कारण कोरोना चेन बढ़ने का भी खतरा बना हुआ है। यात्री परिवहन सेवा के वाहन मालिक व चालक कोरोना गाइडलाइन का उल्‍लंघन करते नजर आए। बुधवार को शहर के  स्टैंडों से अलग-अलग जिलों में जाने वाली बसें न तो सैनिटाइज कराई जा रहीं है, न ही यात्रा करने वाले यात्री मास्क लगाकर बैठे हुए दिखे। दूसरे जिले से में दौड़ने वाले यात्री परिवहन सेवा के वाहन कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा रहे हैं। गाइडलाइन का पालन नहीं कराने वाले वाहन मालिकों व चालकों पर न ट्रैफिक पुलिस कार्रवाई कर रही है और न ही आरटीओ का उड़नदस्ता चेकिंग अभियान चला रहा है।


प्रदेश के भीतर बसें व अन्य यात्री वाहन मालिकों व चालकों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के सख्त आदेश दिए हैं। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारियों व जिला परिवहन अधिकारियों को गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले वाहनों को जब्त करने के लिए निर्देशित किया गया है।
समय-समय पर सैनेटाइज करने के निर्देश हवा हवाई साबित : कोरोना महामारी के दौरान प्रशासन द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के पश्चात अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान बसों का संचालन शुरू करने के लिए जिला परिवहन विभाग ने बस संचालकों को प्रतिदिन बसों को सैनिटाइज करने के निर्देश दिए थे। इसके साथ ही उन्होंने बस में सवारी भरने से पहले सवारी का थर्मल स्क्रीनिग करने और उनके हाथों को सैनिटाइज करने और मास्क लगाए रखने के निर्देश दिए गए हैं। लेकिन समय के साथ साथ बस संचालकों को दिए गए कोविड 19 की सुरक्षा के दिशा निर्देश हवा हवाई साबित होने लगा हैं।