झाबुआ उपचुनाव को लेकर कांग्रेस में खींचतान, टिकट के लिए मेड़ा व भूरिया ने पेश की दावेदारी

Whatsapp

भोपाल: झाबुआ उपचुनाव की घोषणा से पहले ही कांग्रेस पार्टी में टिकट को लेकर खींचतान शुरु हो गई है। हाल में हुए सीएम कमलनाथ के दौरे के बाद कांग्रेस ने चुनाव की तैयारियों का शंखनाथ कर दिया है। कांग्रेस के सामने पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा और कांतिलाल भूरिया में से किसी को एक को टिकट देने का विकल्प है। कांतिलाल चाहते हैं कि उनके बेटे व्रिकांत भूरिया को टिकट मिले। जबकि जेवियर मेड़ा इसका विरोध कर रहे हैं।

बता दें कि विधानसभा चुनाव में मेड़ा के निर्दलीय उतरने के बाद विक्रांत भूरिया चुनाव हारे थे। ऐसे में अब कांग्रेस मेड़ा को टिकट देने का विचार कर रही है। वहां, कांग्रेस कांतिलाल भूरिया को संतुष्ठ करने के लिए राज्यसभा भेजने का मन मना रही है। कांग्रेस चाहती है कि भूरिया और मेड़ा दोनों मिलकर चुनाव लड़े तो झाबुआ सीट को जीता जा सकता है।

सीएम ने किया टिकट का दावा
पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा ने कहा कि सीएम कमलनाथ ने मुझे टिकट देने का वायदा किया है। वहीं, कांतिलाल भूरिया का कहना है कि टिकट किसे मिलेगी इसका फैसला पार्टी हाईकमान को करना है। ऐसे में हाईकमान के फैसले का इंतजार करना चाहिए।

बीजेपी डामोर के परिजनों को दे सकती है टिकट
वहीं, बीजेपी के जीएस डामोर ने झाबुआ के गढ़ को भेदने में सफलता में हासिल की है। उन्होंने पहले विक्रांत भूरिया को विधानसभा चुनाव में हराया और लोकसभा चुनाव में कांतिलाल भूरिया को चुनाव में हराया था। जानकारी के मुताबिक डामोर अपने बेटे या पत्नी दोनों में से किसी एक को टिकट दिलाने के कोशिश में हैं। बीजेपी के पूर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल भी टिकट की दावेदारी पेश कर रहे हैं।