नाव हादसे की जांच पर शिवराज सिंह ने उठाए सवाल, अस्पताल जाकर पीड़ित परिवार वालों से मिले

Whatsapp

भोपाल: खटलापुरा नाव हादसे पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अफसोस जताते हुए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। शिवराज ने कहा हादसे के जिम्मेदार और दोषियो पर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने  जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि एडीएम अपने वरिष्ठ अधिकारियों की गलती कैसे निकालेंगे।

PunjabKesari

जैसे ही शिवराज को हादसे की खबर मिली तो वह हमीदिया अस्पताल पहुचकर मृतकों के परिवारों वालों से मिले। जहां पीड़ित परिवार वाले शिवराज को देखकर रोने लगे। शिवराज ने सरकार से पीड़ित परिवारों को 25 लाख रुपए का मुआवजा और नौकरी देने की मांग की है।

एडीएम कैसे निकालेंगे, वरिष्ठ अधिकारियों की गलती
शिवराज सिंह चौहान ने नाव हादसे के लिए साफ तौर पर कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर जिम्मेदार माना है। जिला प्रशासन और नगर निगम का काम है कि विसर्जन घाट पर गोताखोरों की व्यवस्था रखें। शिवराज ने कहा कि पुलिस और होमगार्ड की जिम्मेदारी बनती है कि नाव में अधिक लोगों को न बैठने दिया जाए। उन्होंने कहा कि गलती कलेक्टर और नगर निगम कमिश्नर की है और जांच भोपाल एडीएम करेंगे। उन्होंने सवाल उठाया है कि अपने वरिष्ठ अधिकारियों की गलती एडीएम कैसे निकालेंगे। कलेक्टर, नगर निगम कमिश्नर सहित अन्य अधिकारियों को हटाकर इनके वरिष्ठ अधिकारी से जांच कराना चाहिए।