झंडे बदले मुद्दे वही – कांग्रेस के वचनपत्र को लेकर बीजेपी का घंटानाद

Whatsapp

राष्ट्र चंडिका (अमर नोरिया ) नरसिंहपुर . प्रदेश भाजपा के आह्वान पर प्रदेश की सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार के खिलाफ पूरे प्रदेश में आज भाजपा द्वारा घंटानाद आंदोलन के माध्यम से विरोध किया गया था, इसी कड़ी में नरसिंहपुर जिला मुख्यालय पर भी भारी बरसात के बीच भाजपा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सुभाष पार्क चौराहे पर एकत्रित होकर पहले एक सभा आयोजित की और उस सभा के माध्यम से नरसिंहपुर की स्थानीय समस्याओं मुद्दों और फिर प्रदेश सरकार सहित देश की सत्ता पर 70 साल काबिज रही कांग्रेस के रीति नीति को लेकर जमकर निशाना साधा गया । इस दौरान क्षेत्रीय सांसद राव उदय प्रताप सिंह क्षेत्रीय विधायक जालम सिंह पटेल और पूर्व विधायक साधना स्थापक, गोविंद सिंह पटेल, सहित भाजपा जिला अध्यक्ष और भाजपा के अन्य सभी प्रकोष्ठ के पदाधिकारी और कार्यकर्ता विशेष रूप से मौजूद रहे आम सभा के बाद एक रैली पुराने बस स्टैंड से होते हुए मुख्य मार्ग से निकालकर जिला कलेक्ट्रेट की ओर पहुंची जहां पर कलेक्ट्रेट के गेट पर भारी पुलिस इंतजाम के बाद भी प्रदर्शनकारी भाजपाई पुलिस को नजरअंदाज करते हुए कलेक्ट्रेट परिसर के अंदर पहुंच गये । उनके साथ भारी संख्या में महिलाएं भी थाली पीटती हुई कलेक्ट्रेट परिसर में प्रवेश कर गई इस दौरान काफी देर तक कलेक्ट्रेट परिसर में भोजन की थाली को महिलाओं द्वारा पीटा जाता रहा । थाली पीटने के माध्यम से ध्वनि और घंटानाद किया गया । इस दौरान यह बात इस पूरे घंटानाद के माध्यम से चर्चाओं में सामने आई कि और जिन मुद्दों पर घंटानाद आंदोलन किया गया उनमें प्रमुख रूप से जिले में गांव गांव बिक रही अवैध शराब,  सट्टा जुआ सहित अवैध खनन के मुद्दे के अलावा कांग्रेस के वचन पत्र में किया गया किसानों के 2 लाख तक के कर्ज को माफ न किया जाना, बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता न दिया जाना और प्रधानमंत्री आवास योजनाओं की किस्तों का हितग्राहियों के खाते में ना पहुंचायें जाने सहित कई  अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन को प्रदेश सरकार द्वारा रोके जाने को लेकर बीजेपी के नेताओं ने खुले मंच से कांग्रेस के स्थानीय जनप्रतिनिधियों, नेताओं और प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा । क्षेत्रीय सांसद उदय प्रताप ने तो यह तक कहा कि जनप्रतिनिधि जनता की समस्याओं को सुनने और उनका निराकरण करने के लिए होते हैं ना कि बड़े-बड़े बंगलों में एसी लगा कर आराम करने के लिए वहीं दूसरी ओर नरसिंहपुर विधायक जालम सिंह पटेल ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर बोलते हुए 19 अगस्त को  सुआतला थाने के अंतर्गत  हुए जबलपुर के इनामी आरोपियों के एनकाउंटर को लेकर बताया कि उन आरोपियों को पुलिस चाहती तो पकड़कर जेल भेज सकती थी किंतु न जाने क्या हुआ कि उनको पकड़ने की वजाय पुलिस ने उनका एनकाउंटर कर दिया पुलिस द्वारा ऐसा करना कोई नई बात नहीं है और ऐसा किसी भी आमजन के साथ हो सकता है । वही नरसिंहपुर के भाजपा जिलाध्यक्ष ने मंच के माध्यम से सरकार द्वारा कन्यादान योजना के तहत दी जाने वाली राशि को हितग्राही के खाते में ना दिए जाने को लेकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर मोर्चा साधा कुल मिलाकर बात जो प्रतिक्रिया सामने आई और लोगों के बीच चर्चा का विषय रही वह है कि आज जिन मुद्दों को लेकर नरसिंहपुर शहर में बीजेपी ने घंटानाद आंदोलन किया है इन्हीं अवैध शराब,सट्टा, जुआ सहित भ्रष्टाचार के मुद्दों को लेकर पिछले 15 सालों तक लोग बीजेपी सरकार से भी इन मुद्दों को लेकर जूझते रहे हैं । तब बीजेपी सरकार के खिलाफ खुलकर किसानों की आवाज उठाने वाले संगठन इन सब मसलों को लेकर आगे आते रहे थे तो बीजेपी सरकार इन मुद्दों पर ना तो किसी प्रकार की कार्रवाई करती थी और ना ही इन मुद्दों को लेकर बीजेपी के जनप्रतिनिधि कभी आम जनता के साथ खड़े होते थे । कुल मिलाकर यह कहा जाये कि बीजेपी का यह घंटानाद आंदोलन उन्हीं मुद्दों को लेकर सामने आया जिन मुद्दों को लेकर पिछले 15 साल जागरूक जनता और जनता के जनसमस्याओं को लेकर जागरूक सामाजिक कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट कार्यालय से लेकर भोपाल तक की सड़कों पर जूझते रहे थे ।