पाक विदेश मंत्री UNHRC सत्र में भाग लेने जेनेवा हुए रवाना

Whatsapp

इस्लामाबादः पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी सोमवार को जेनेवा के लिए रवाना हो गए, जहां वह संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) के 42वें सत्र में कश्मीर मुद्दे को उठाएंगे। खबराें के मुताबिक, पिछले हफ्ते इस्लामाबाद में कश्मीर सेल की दूसरी बैठक की अध्यक्षता करते हुए विदेश मंत्री ने कहा था कि वह इस मुद्दे को विश्व समुदाय के प्रतिनिधियों के सामने उठाएंगे। कुरैशी ने कहा कि वह कश्मीर में मानवाधिकारों के गंभीर उल्लंघन के बारे में दुनिया को अवगत कराएंगे।

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाचेलेत सोमवार को सत्र का उद्घाटन करेंगी। यह दो सप्ताह (27 सितंबर) तक चलेगा। रिपाेटों के अनुसार, परिषद के 42वें सत्र में कई मुद्दे होंगे, जिसमें दुनिया भर के 25 मानवाधिकार विशेषज्ञों द्वारा पेश 90 रिपाेटों का परीक्षण किया जाएगा। कश्मीर के अलावा म्यांमार, यमन, यूक्रेन, लीबिया, सोमालिया, सूडान, मध्य अफ्रीकी गणराज्य और जॉर्जिया पर भी चर्चा होगी। 5 अगस्त को भारत द्वारा जम्मू एवं कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द कर दिया गया, जिसके बाद से भारत-पाक संबंध बहुत तनावपूर्ण हो गए हैं और पाकिस्तान हर मंच पर कश्मीर मुद्दे को जोरशोर से उठाने की कोशिश कर रहा है।