JNU राजद्रोह मामला: भाजयुमो ने मुख्यमंत्री आवास के निकट प्रदर्शन किया

Whatsapp

नई दिल्ली: भाजपा की छात्र इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के निकट प्रदर्शन कर उनसे 2016 के जेएनयू राजद्रोह मामले में अभियोजन स्वीकृति देने की मांग की। भाजयुमो के कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के फ्लैगस्टाफ रोड स्थित आवास के निकट एक अवरोधक को पार करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया और उनमें से कई लोगों को नजदीकी पुलिस स्टेशन ले जाया गया और बाद में छोड़ दिया गया। प्रदर्शनकारियों ने केजरीवाल सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मुख्यमंत्री आवास के बाहर पोस्टर और बैनर भी फाड़े।

भाजयुमो की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष सुनील यादव ने दावा किया कि समाचार पत्रों में खबरें आईं हैं कि आम आदमी पार्टी सरकार ने जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और अन्य लोगों के खिलाफ देशद्रोह मामले में मुकदमा चलाने की अनुमति को खारिज कर दिया है। यादव ने कहा, “केजरीवाल को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वह जेएनयू में ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ जैसे नारे लगाने वाले देशद्रोहियों के साथ हैं। यदि वह उनके साथ नहीं हैं, तो उन्हें 2016 के जेएनयू देशद्रोह मामले में अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति देनी चाहिए।” गौरतलब है कि केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा था कि दिल्ली सरकार ने कन्हैया कुमार और अन्य लोगों के खिलाफ देशद्रोह मामले में अभियोजन स्वीकृति पर अभी तक कोई फैसला नहीं किया है। हालांकि, उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार का गृह विभाग सभी तथ्यों को ध्यान में रखकर उचित निर्णय लेगा। मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे पर मीडिया रिपोर्टों को “अटकलबाजी” कहकर खारिज कर दिया था।