लोकसभा में विदेश मंत्री ने उठाया विदेशों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का मुद्दा

Whatsapp

नई दिल्ली। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को लोकसभा में कहा, ‘विदेशों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के वेलफेयर का मुद्दा हम सब की चिंता का विषय रहा है। दुनिया भर में हमारे दूतावासों को उनतक पहुंचने और उनकी हालातों पर करीब से नजर रखने के निर्देश दिए जा चुके हैं। साथ ही इनके स्वदेश वापसी में मदद के लिए भी कहा गया।’

इससे पहले राज्यसभा में विदेश मंंत्री ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में नस्लवाद का मुद्दा उठाया।  विदेश मंत्री ने कहा, ‘हम महात्मा गांधी के देश के लोग हैं ऐसे में नस्लवाद के मामलों से आंखें नहीं चुरा सकते। विशेषकर उस देश से जहां भारत का एक बड़ा समुदाय रहता है। ब्रिटेन के साथ हमारा मजबूत संबंध है। हम हर मामले पर करीब से नजर रख रहें हैं और जरूरत पड़ने पर हम इस मुद्दे को  उठाएंगे।’ दोपहर 2 बजे तक राज्यसभा स्थगित कर दी गई

कोविड-19 के मद्देनजर विदेश में रह रहे भारतीयों, अप्रवासी भारतीयों (NRI) और पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजिन (PIO) के वेलफेयर  मुद्दे पर विदेश मंत्री आज दोनों सदनों को संबोधित करने वाले हैं। इस बीच सदन की कार्यवाही देखने के लिए इंटर पार्लियामेंट्री यूनियन (अंतर-संसदीय संघ,IPU) के अध्यक्ष, दुआर्ते पाचेको भारतीय संसद के अतिथि के रूप में 14 से 20 मार्च तक रहेंगे।

 आज एक बार फिर राज्यसभा में ईंधन की कीमतों व कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष द्वारा हंगामे के आसार हैं। इन मुद्दों पर विपक्ष द्वारा बार-बार हंगामा करने के कारण 10 मार्च को स्थगित किए जाने के बाद राज्यसभा की कार्यवाही आज शुरू हुई।  बता दें कि सदन में आज गृह मंत्रालय, पर्यटन और संस्कृति के साथ-साथ लोक लेखा समिति सहित विभिन्न स्थायी समितियों की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी।

इससे पहले आम आदमी पार्टी (AAP) सांसद संजय सिंह ने राज्यसभा में किसानों के जारी प्रदर्शन के मद्देनजर नियम 267 के तहत सदन के निरस्त करने को लेकर बिजनेस नोटिस दिया है। भाजपा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने सदन में जीरो आवर नोटिस दिया। वहीं भाजपा सांसद अशोक वाजपेयी ने भी संविधान की 8वीं सूची में अवधी भाषा को शामिल करने की मांग करते हुए जीरो आवर नोटिस दिया है।  बता दें कि सदन में आज गृह मंत्रालय, पर्यटन और संस्कृति के साथ-साथ लोक लेखा समिति सहित विभिन्न स्थायी समितियों की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी।