बेमौसमी बारिश और ओलावृष्टि से किसानों की फसल बर्बाद, सीएम बोले- डोंट वरी, मैं हूं ना

Whatsapp

भोपाल: मध्य प्रदेश के कई जिलों मे शुक्रवार को भारी बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। इस बेमौसमी बारिश ने किसानों के माथे पर चिंता की लकीर खींच दी है। आलम यह था कि कई जिलों में किसानों की गेंहू की पूरी की पूरी खड़ी फसलें खराब हो गई। वहीं चना, मसूर से लेकर अन्य फसलों को भी भारी नुकसान हुआ है। इस बेमौसमी बारिश के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किसानों को किसी तरह से कोई परेशानी लेने से मना किया है। वहीं पूर्व सीएम कमलनाथ ने बारिश से खराब हुई फसलों के मुआवजे की मांग की है।

मध्य प्रदेश में शुक्रवार को इंद्र देवता काफी नाराज दिखे। भोपाल, सागर, रीवा, श्योपुर, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, खरगोन, छिंदवाड़ा और दमोह में तेज आंधी के साथ तेज बारिश और ओलावृष्टि हुई। इस बिन मौसम बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों की साल भर की मेहनत पर पानी फेर दिया। इसे लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल ने ओलावृष्टि और बारिश से हुए नुकसान का वीडियो ग्राफी से आकलन करने और प्रभावित किसानों को उचित मुआवजा देने का निर्देश जिला कलेक्टरों और कृषि अधिकारियों को दिया है।

वहीं सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि ”किसान भाइयों को मैं कहना चाहता हूं कि वे फिक्र ना करें। मैं किस लिए हूं। परेशान होने की जरूरत नहीं है। जिनकी फसल बर्बाद हुई है उन्हें  उचित मुआवजा दिया जाएगा।”