दबंगों ने शिवरात्रि के दिन की BJP नेता की हत्या, जमीनी विवाद बताई जा रही वजह

Whatsapp

रीवा: जिले के सोहागी में बीजेपी नेता की हत्या से हड़कंप मच गया। पहले आरोपियों ने उन्हें गोली मारी और जमीन पर गिरते ही धारदार हथियारों से उस पर हमला कर दिया। परिजन और आसपास के लोग आए तो आरोपी भाग निकले। बीजेपी नेता की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। हत्या की वजह 15 साल से चल रहा जमीन का विवाद बताया जा रहा है। विवाद में आरोपी पक्ष के सदस्य की भी जान गई थी। आरोपी बीजेपी नेता के परिवार के ही हैं।

वारदात महाशिवरात्रि के दिन देर शाम की है। बीजेपी नेता मंदिर में पूजा करके आ रहे थे, तभी रास्ते में छिपे आरोपियों ने तमंचे से गोली मार दी गांव में तनाव को देखते हुए एसपी राकेश सिंह मौके पर पहुंच गए। प्राथमिक तौर पर पुलिस ने हत्या की वजह जमीनी विवाद बताई है। आरोपियों को पकड़ने के लिए यूपी में भी दबिश दी जा रही है। पुलिस ने बताया कि सुरेंद्र तिवारी पुत्र रामनरेश तिवारी (45) निवासी नौढिय़ा थाना सोहागी वर्तमान में सिवाडीह फरेंदा में अपने परिवार के साथ रह रहा थे।

महाशिवरात्रि के दिन बीजेपी नेता शाम साढ़े छह बजे घर से 100 मीटर दूर स्थित मंदिर पर गए थे। दर्शन के बाद लौटते वक्त  तभी आरोपियों ने उसे गोली मार दी। जमीन पर गिरते ही धारदार हथियार से आरोपियों ने उस पर कई वार किए। शोर शराबा सुनकर परिजन व आसपास के लोग जब मौके पर पहुंचे तब तक आरोपी भाग निकले, जिनसे जमीन का विवाद चल रहा है।  5 लोगों पर FIR दर्ज की गई है।

घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए चाकघाट अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। डॉक्टरों ने देखते ही मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति निर्मित हो गई। घटना की सूचना सौनौरी चौकी में दी गई, लेकिन मौके से कोई नहीं पहुंचा। इसके बाद सोहागी पुलिस को सूचना दी गई।

आरोपियों का विवाद मृतक के बड़े भाई प्रभाकर तिवारी से था। 15 साल पूर्व जमीन के विवाद में आरोपी पक्ष के एक सदस्य की भी जान गई थी। सुरेंद्र तिवारी बीजेपी के न केवल सक्रिय कार्यकर्ता थे अपितु ग्राम केंद्र प्रभारी भी थे।