ADG को बंधक बनाकर लूटने वाले पांच बदमाश गिरफ्तार, कैलाश विजयवर्गीय ने जताई चिंता

Whatsapp

उमरिया: एडीजी को उनके ही घर में बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सारे आरोपी नशे के आदी हैं और पैसा खत्म होने नशे के लिए एडीजी के घर पर लूट करने पहुंचे थे। फिलहाल पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है कई अन्य पहलुओं से भी मामले की जांच की जा रही है।
ऐसे दिया वारदात को अंजाम
मंगलवार रात करीब डेढ़ बजे कुछ नकाबपोश बदमाशों ने एडीजे सुरेन्द्र कुमार शर्मा के घर धावा बोल दिया। घर में घुसते ही बदमाशों ने एडीजे को दबोच लिया और उन्हें बांधकर कंबल में लपेट दिया। बदमाश उन्हें बंधक बनाकर पूरे घर को खंगालते रहे।

घटना के दौरान एडीजे बदमाशों का चेहरा नहीं देख सके और न ही उनकी संख्या का उन्हें पता चल पाया। एडीजी सिर्फ उनकी आवाज सुन पाए। हालांकि बदमाश बोलने में भी काफी सावधानी बरत रहे थे और सिर्फ नगदी रकम और ज्वेलरी तलाशने की बात कर रहे थे। इसके बाद एडीजे शर्मा को उसी हाल में छोड़कर भाग गए। बदमाशों के जाने के करीब आधे घंटे बाद काफी मशक्कत से उन्होंने हाथ में बंधी रस्सी को खोला। इसके बाद फौरन पुलिस को घटना की जानकारी दी। एडीजे नेशनल हाइवे के किनारे के एक निजी मकान में किराए से अकेले ही रहते हैं। उनका परिवार दिल्ली में रहता है।

दो अलमारी और एक सूटकेस खंगाला
एसपी ने बताया कि बदमाशों ने घर के अंदर एडीजे को बंधक बनाने के बाद वहां रखी दो अलमारियों और एक सूटकेस को खंगाला। वे किसी कीमती सामान और नगद राशि की तलाश में थे, लेकिन वहां ऐसा कुछ भी नहीं था जो उन्हें मिल पाता। एसपी ने कहा कि हो सकता है कि किसी केस से जुड़े अपराधियों का इसमें हाथ हो और हम इस एंगल से भी जांच करेंगे।

Kailash Vijayvargiya

@KailashOnline

मध्यप्रदेश के उमरिया के सेशन जज श्री सुरेंद्र शर्माजी को किसने उनके ही निवास में बंदी बनाया, प्रताड़ित किया? लोकतंत्र के तीन आधार-स्तंभों में एक न्याय पालिका के रखवाले ‘न्यायधीश’ भी अब सुरक्षित नहीं हैं! @OfficeOfKNath जी, आपके शासन में हो रही इस अराजकता का उत्तरदायी कौन है?

511 people are talking about this
BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने किया ट्वीट

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया कि उमरिया के सेशंस कोर्ट के जज को उनके घर में बंदी बनाकर यातना दी गई। उन्होंने ट्वीट किया ‘जज सुरेंद्र शर्मा को किसने बंदी बनाकर यातना दी? लोकतंत्र के तीन स्तंभों में से एक न्यायपालिका के रक्षक जज भी अब सुरक्षित नहीं रहे। कमलनाथ जी, आपके राज में इस अराजकता के लिए कौन जिम्मेदार है?