टायर खुलते ही बीच सड़क पर पलट गई इन्डैवर कार, दुबई की फ्लाइट पकड़ने से पहले वीडियो डायरैक्टर की मौत

Whatsapp

जालंधर(महेश): दुबई की फ्लाइट लेने से करीब 10 घंटे पहले 23 साल के वीडियो डायरैक्टर एकनूर सिंह पुत्र शिंगारा सिंह की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई। उसने मंगलवार को दोपहर 12 बजे अमृतसर एयरपोर्ट से दुबई के लिए फ्लाइट लेनी थी। उसने अपने घर वालों को भी बताया हुआ था कि वह जालंधर से ही दुबई के लिए निकल जाएगा। वहां भी उसे किसी शूटिंग के सिलसिले में जाना था।

सोमवार रात 2 बजे के बाद नैशनल हाईवे (जालंधर-लुधियाना मार्ग) पर मोदी रिजॉर्ट्ज के सामने उक्त हादसा उस समय हुआ जब एकनूृर की इन्डैवर कार का ड्राइवर साइड वाला टायर खुल जाने के कारण कार बीच सड़क पलट गई। कार को थाना सुल्तानपुर लोधी के गांव हैबतपुर का निवासी वीडियो डायरैक्टर एकनूर सिंह खुद चला रहा था और उसी गाड़ी में उसके 3 दोस्त शमशेर सिंह शेरा पुत्र धर्म सिंह निवासी रईया (अमृतसर), रोबिनप्रीत सिंह पुत्र बलविन्द्र सिंह निवासी गांव हैबतपुर थाना सुल्तानपुर लोधी व दिलबर सिंह पुत्र भूपिन्द्र सिंह निवासी मोहल्ला विकासपुरी, शाहकोट भी सवार थे जोकि इस हादसे में गम्भीर रूप से घायल हो गए। दिलबर सिंह व रोबिनप्रीत सिंह को रामा मंडी के जौहल मल्टी-स्पैशलिटी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। उनकी हालत अस्पताल प्रमुख डा. बी.एस. जौहल ने खतरे से बाहर बताई है जबकि शमशेर सिंह शेरा के परिजन उसे अमृतसर ले गए हैं।

मामले की जांच कर रहे थाना जालंधर कैंट के ए.एस.आई. गुरदीप चंद ने कहा कि हादसे में किसी भी अन्य का गुनाह सामने न आने पर पुलिस ने मृतक की मौसी के लड़के तेजेन्द्र सिंह पुत्र राजेन्द्रपाल सिंह के बयानों पर धारा 174 की कार्रवाई करते हुए मृतक एकनूर सिंह का सिविल अस्पताल से पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया है। 60-70 की स्पीड पर थी गाड़ी मृतक एकनूर के घायल साथियों दिलबर सिंह व रोबिनप्रीत सिंह की आंखों से निकल रहे आंसू बता रहे थे कि उन्हें अपने बचने की खुशी कम और अपने हीरे दोस्त एकनूर के हमेशा के लिए उन्हें छोड़कर चले जाने का गम बहुत ज्यादा है जोकि तमाम उम्र उन्हें रहेगा। उन्होंने कहा कि नूर दोस्त ही नहीं बल्कि एक मददगार भी था। दिलबर व रोबिनप्रीत ने बताया कि नूर गाड़ी को 60-70 की स्पीड पर ही चला रहा था। पीछे से आती गाडिय़ों को वह साइड भी देता रहा। अचानक टायर कैसे खुल गया, कुछ पता नहीं चला।

 बड़ा भाई अमरीका में, आने पर ही होगा संस्कार
एकनूर का बड़ा भाई अमरीका में है जबकि पिता शिंगारा सिंह खेतीबाड़ी करते हैं। नूर परिवार का बहुत प्रिय था। पिता व अन्य लोग उसका शव लेकर घर भी पहुंच गए लेकिन परिवार वाले उसकी मौत को मानने के लिए तैयार नहीं थे। घर में जहां मातम था वहीं पूरे गांव हैबतपुर में उसकी मौत की सूचना मिलते ही सन्नाटा सा पसर गया। बड़े भाई को विदेश में उसकी मौत के बारे में बता दिया गया है। उसके आने पर ही उसका संस्कार किए जाने की सूचना मिली है। शूटिंग के सिलसिले में गए थे फगवाड़ा साइड पर मृतक वीडियो डायरैक्टर एकनूर सिंह अपने साथियों समेत किसी शूटिंग के सिलसिले में फगवाड़ा साइड पर सोमवार रात को निकला था। वहां से वापस आते समय देर रात को उन्होंने हवेली में खाना खाया और 1.30 बजे के बाद वहां से 2 गाडिय़ों में 6 लोग जालंधर के लिए निकल पड़े। एकनूर जालंधर में गढ़ा के नजदीक किसी होटल में रहता था। रात को उसने वहीं पर जाना था। घायल दिलबर ने बताया कि वह एकनूर के साथ सहायक के रूप में काम करता था। उसे हादसे वाली जगह पर नहीं पता चला कि एकनूर उन्हें हमेशा के लिए छोड़ कर चला गया है। अस्पताल में उसकी हालत में सुधार आने पर उसे उसके दोस्त एकनूर की मौत के बारे में जानकारी दी गई।