पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली, बारिश के बीच निभाई गई सारी रस्में

Whatsapp

नई दिल्लीः पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली आज पंचतत्व में विलीन हो गए। दिल्ली के निगमबोध घाट पर उन्हें अंतिम विदाई दी गई। बेटे रोहन ने अपने पिता को मुखाग्नि दी। अरुण जेटली के अंतिम संस्कार के समय बारिश भी होने लगी, लेकिन सभी अंतिम रस्मों को बारिश के बीच में ही निभाया गया। जेटली के अंतिम संस्कार में बड़े नेताओं का तांता लग गया।आपको बता दें कि  बीजेपी मुख्यालय से अंतिम दर्शनों के बाद अरुण जेटली के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया।

अरुण जेटली के अंतिम संस्कार में लाल कृष्ण आडवाणी, नीतिन गडकरी निगमबोध घाट पर पहुंचे। इसके अलावा बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी निगमबोध घाट पर मौजूद रहे।

गौरतलब है कि  लंबे समय से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे अरुण जेटली 9 अगस्त से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थी, काफी दिनों तक उपचाराधीन रहने के बाद कल शनिवार को दोपहर 12.7 बजे उन्होनें अपनी अंतिम सांस ली।