रेत उत्खनन को लेकर बालाघाट में भिड़े दो गुट, इलाके में स्थिति तनावपूर्ण

बालाघाट: बालाघाट के धापेवाड़ा गांव में रेत उत्खनन को लेकर दो गुटों में विवाद हो गया। हाथापाई से शुरु हुआ मामूली विवाद देखते ही देखते खूनी संघर्ष में बदल गया। इतना ही नहीं एक गुट को अपने बचाव में बंदूक से हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। जिससे गांव ही नहीं आसपास के इलाके में तनाव की स्थिति निर्मित हो गई। मामले को देखते हुए मौके पर मायनिंग ,राजस्व व पुलिस विभाग के अमले को दल बल के साथ पहुंचकर मामले को शांत कराना पड़ा।

जानकारी के अनुसार वैनगंगना नदी से ग्राम धापेवाड़ा के रेत कारोबारियों के द्वारा रेत निकालकर जगह-जगह शासकीय जमीन पर डंप कर रखा गया है। इस रेत को अवैध करार देते हुए पिछले दिनों मायनिंग विभाग ने जब्त करने की कार्रवाई की थी और कार्रवाई के दौरान उन्होंने धापेवाड़ा से करीब 500 ट्राली रेत को जब्त किया था। इसके बाद नियम के तहत अग्रिम रायल्टी जमा कर जिला प्रशासन ने समीपस्थ ठेकेदार शिवेन्द्र परिहार को उठाने की अनुमति दी थी। शुक्रवार को जब ठेकेदार के कर्मचारी डंपर लेकर धापेवाड़ा की रेत उठाने के लिए पहुंचे तो यहां पर ग्रामीणों ने जमा होकर विरोध करना शुरु कर दिया और देखते ही देखते दोनो पक्षों के बीच विवाद शुरु हो गया। यहां पत्थर फेंकने लाठी चलाने के साथ ही झूमाझपटी भी शुरु हो गई।

घटना की सूचना पर कोतवाली थाना प्रभारी, तहसीलदार, मायनिंग अधिकारी समेत अन्य स्टाफ मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को समझाकर विवाद शांत कराने की कोशिश की लेकिन दोपहर करीब 12 बजे से शुरु हुआ विवाद रह रह कर तूल पकड़ता जा रहा था। हालांकि बाद दोपहर दोनों ही पक्ष आपसी सहमति के लिए तैयार हो गए।