पी चिदंबरम की जमानत तक नहीं करा पाए कांग्रेस के सीनियर वकील- लक्ष्मण सिंह

Whatsapp

भोपाल: पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम की गिरफ्तारी के बाद रिहाई पर सियासत गरमाई हुई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह ने पार्टी के बड़े नेताओं, जो देश के नामी वकील भी हैं, का नाम लिए बिना तंज कसते हुए कहा कि वह पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम की जमानत भी नहीं करा पाए। गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई ने चिदंबरम को बुधवार रात गिरफ्तार किया था।

विधायक लक्ष्मण सिंह ने शुक्रवार को ट्वीट किया, “चिदंबरम जी निर्दोष सिद्ध हों, पार्टी की स्वच्छ छवि बने, यही कामना करते हैं, परंतु दुख इस बात का है कि हमारे सभी “मठाधीश” अधिवक्ता जिन्हें बार-बार राज्य सभा का सदस्य बनाया, उनकी जमानत नहीं करा पाए।” वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी चिदंबरम के लिए जमानत की कोशिश करने वाले वकीलों में शामिल थे।

lakshman singh@laxmanragho

चिदंबरम जी निर्दोष सिद्ध हों,पार्टी की स्वच्छ छवि बने,यही कामना करते हैं,परंतु दुख इस बात का है कि हमारे सभी “म्ठा धीश “अधिवक्ता जिन्हें बार बार राज्य सभा का सदस्य बनाया,उनकी जमानत नहीं करा पाये।

40 people are talking about this

बता दें कि यह पहली बार नहीं है कि पांच बार के सांसद रहे लक्ष्मण सिंह ने अपनी पार्टी पर ही निशाना साधा है। लक्ष्मण सिंह दो बार भाजपा से भी सांसद रहे हैं। उन्हें वर्ष 2003 में मध्यप्रदेश से कांग्रेस के सत्ता से बाहर होने के बाद लक्ष्मण सिंह भाजपा में शामिल हुए और दो लोकसभा चुनाव भगवा पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर जीते। वर्ष 2010 में भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी की आलोचना करने पर उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया गया था। वह वर्ष 2013 में कांग्रेस में वापस लौटै।