कमलनाथ के कहने पर पुलिस ने लिया बड़ा एक्शन, ‘शिवराज’ को 15 दिन में करना होगा बंगला खाली

Whatsapp

इंदौर: सीएम कमलनाथ ने इंदौर पुलिस को शिवराज सिंह के खिलाफ एक्शन लेने के लिए कहा दरअसल, इंदौर के एक एनआईआर ने ट्वीट करके सीएम कमलनाथ से अपना बंगला खाली करवाने के लिए मदद मांगी थी। शख्स की शिकायत पर सीएम ने तुरंत एक्शन लिया और इंदौर के स्थानीय प्रशासन को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। मामले की शुरआत मनोज वर्गीज नाम के एक शख्स से हुई जिसने शुक्रवार को सीएम कमलनाथ को ट्वीट कर लिखा था कि वह साल 1994 से NRI है, उसका घर इंदौर के साकेत नगर में है। उनके घर पर किसी शिवराज सिंह नाम के शख्स ने कब्जा कर लिया है और उर्जा मंत्री का डर से पुलिस कोई एक्शन नहीं ले रही।

PunjabKesari

दरअसल, मनोज वर्गीज पिछले 27 साल से दुबई में रहते हैं। साल 2008 से 2014 तक के लिए उन्होंने शिवराज सिंह लिंबड़ी नाम के शख्स को अपना मकान किराए पर दिया था और इसके बाद साल 2014 में मकान खाली करा लिया था। इसके बाद जब वे विदेश में थे तो शिवराज सिंह उनके मकान में घुसकर उस पर अवैध रूप से कब्जा जमा लिया। विदेश से वापस लौटने पर एनआरआई ने शिवराज से बंगला खाली करने को कहा तो उसने अपने गुंडों से उनको धमकाया।

PunjabKesari

इसके बाद शुक्रवार सुबह वर्गीज पत्नी और बेटी के साथ बंगले पर पहुंचे और अंदर जाकर बैठ गए। तब बंगले पर शिवराज नहीं थे, पर उनकी मां और बच्चे मौजूद थे। वर्गीज ने इसी बीच पुलिस को सूचना दी तो पलासिया थाने से बल मौके पर पहुंच गया। वर्गीज पुलिसकर्मियों से बोले कि जब तक शिवराज नहीं मिलेंगे, वे नहीं जाएंगे। विवाद बढ़ने पर वर्गीज ने वहीं से सीएम कमलनाथ और विदेश मंत्रालय को ट्वीट किया कि पुलिस ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह के दबाव में उनका सहयोग नहीं कर रही है।

PunjabKesari

थोड़ी देर बाद ही मुख्यमंत्री कार्यालय से उन्हें जवाब मिला कि पुलिस पूरी मदद करेगी। इसके बाद आला अफसराें ने वर्गीज और शिवराज सिंह को थाने बुलाया और समझौता करा दिया। तय हुआ कि कारोबारी 15 दिन में बंगला खाली कर देंगे। पलासिया टीआई अजीत सिंह बैस के अनुसार 174, साकेत नगर स्थित बंगला खाड़ी देश में रहने वाले ऑर्किटेक्ट एनआरआई मनोज वर्गीज का ही है।