विधायक ने खुद ट्रैक्टर चलाकर SDM और तहसीलदार को घुमाया, जानिए क्या है वजह

Whatsapp

अशोकनगर: अपने विधायक का कारनामा देखकर मुंगावली की जनता फूली नहीं समा रही। दरअसल, मंगलवार को एसडीएम राजन बी नाडिया और तहसीलदार यूसी मेहरा आरआई और पटवारियों के साथ गांव के लिए आबंटित जमीन को देखने सेहराई पहुंचे थे। लेकिन मुंगावली ब्लॉक के सेहराई गांव के लिए कोई रास्ता न होने के कारण उन्हें बीच रास्ते में रुकना पड़ा। वहीं इलाके के विधायक बृजेंद्रसिंह यादव ने सूझ-बूझ का इस्तेमाल करते हुए एसडीएम-तहसीलदार को ट्रैक्टर पर बिठाया और खुद ही ट्रैक्टर चलाकर गांव तक गए।जानकारी के अनुसार, सेहराई गांव में स्वीकृत शासकीय कॉलेज के निर्माण के लिए प्रशासन ने पुलिस थाने की जमीन के सामने चार हेक्टेयर जमीन आबंटित की थी । मंगलवार को एसडीएम राजन बी नाडिया और तहसीलदार यूसी मेहरा आरआई और पटवारियों के साथ आबंटित जमीन को देखने सेहराई पहुंचे। क्योंकि ग्रामीणों ने कॉलेज भवन का निर्माण सिंहारदा गांव में कराने की मांग की थी इसलिए अधिकारी वहां की जमीन देखने पहुंचे। लेकिन सेहराई से सिंगारदा गांव के लिए रास्ता नहीं था और कीचड़ में से होकर निकलना था।
इससे अधिकारियों के वाहन नहीं चल सके। इससे विधायक बृजेंद्रसिंह यादव ने तीन ट्रैक्टर मंगाए, एक पर एसडीएम-तहसीलदार को बिठाया और उसे खुद ही दो किमी दूर तक चलाकर अधिकारियों को लेकर दो किमी दूर सिंगारदा गांव पहुंचे। वहीं अन्य दो ट्रैक्टरों पर पटवारी और आरआई बैठकर गए। तब टीम गांव पहुंच सकी। जहां अधिकारियों ने गांव की जमीन को देखा।